कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ ने डीएम को सौंपा 13 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन

13-point-memorandum-of-demands

मेरठ : उत्तर प्रदेश मिनिस्ट्रीयल कलक्टेट कर्मचारी संघ के तत्वावधान में बुधवार को 13 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा। इस दौरान कर्मचारियों ने काला फीता बांधकर विरोध जताया। दिए गए ज्ञापन में कहा कि जनपद मुख्यालय स्तर पर कलेक्ट्रेट का नाम जिलाधिकारी के स्थान पर मिनी-जनपद सचिवालय रखा जाए। कलेक्ट्रेट लिपिक संवर्ग के कर्मचारियों को नायब तहसीलदार के 10 प्रतिशत पदों पर प्रोन्नति प्रदान की जाए आदि मांगों को लेकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया।

बुधवार को उत्तर प्रदेश मिनिस्ट्रीयल कलक्टे्रट कर्मचारी संघ के अध्यक्ष मुकेश कुमार की अगुवाई में कर्मचारी जिलाधिकारी जगत राज से मिले और उन्हें 13 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा। साथ ही काला फीता बांधकर विरोध प्रदर्शन भी किया। जिलाधिकारी को दिए ज्ञापन में कहा कि जनपद मुख्यालय स्तर पर कलक्टे्रट का नाम जिलाधिकारी के स्थान पर मिनी जनपद सचिवालय रखा जाए। कलेक्ट्रेट लिपिक संवर्ग के कर्मचारियों को नायब तहसीलदार के 10 प्रतिशत पदों पर प्रोन्नति प्रदान की जाए। कलक्टे्रट कार्यालय के कर्मचारियों का वेतन पुनरीक्षण एवं संशोधन संबंधी शासनादेश दिनांक 31मई 2013 एवं उ.प्र. सरकारी विभाग लिपिक संवर्ग सेवा नियमावली 2014 द्वारा पदोन्नति की प्रक्रिया में पोषक पद पर निर्धारित अवधि की सेवा पूर्ण करने की बाध्यता समाप्त कर विभागीय नियमावली जिला कार्यालय लिपिक वर्ग सेवा द्वितीय संसोधन नियमावली 2011 के अनुसार प्रोन्नती की व्यवस्था की जाए।

कलेक्ट्रेट मिनीस्ट्रीयल संवर्ग को विशेष सेवा घोषित कर कनिष्ठ सहायक का पदनाम परिवर्तित करते हुए कम्प्यूटर सहायक ग्रेड पे-2800 रुपये, वरिष्ठ सहायक वेतन ग्रेड पे-4200 रुपये, प्रधानसहायक वेतन ग्रेड पे-4600 रुपये, प्रशासनिक अधिकारी वेतन ग्रेड पे-5400 रुपये, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ग्रेड पे-6600 रुपये व मुख्य प्रशासनिक अधिकारी वेतन ग्रेड पे-7600 रुपये किया जाए। कलक्टेकृट में लेखा का कार्य संपादित करने वाले पटल सहायकों को लेखा संवर्ग का वेतनमान दिया जाए। नवसुजित जनपदों एवं तहसीलों में उप्र. जिला कार्यालय लिपिक वर्ग सेवा नियामावली 2011 द्वारा प्रख्यापित पदो का सृजन किया जाए। प्रदेश के 21 नवसृजित जनपदों में ज्येष्ठ प्रशासनिक एवं नवसृजित तहसीलों में प्रशासनिक अधिकारी का पद सृजित किया जाए आदि मांगों को लेकर कर्मचारियों ने जोरदार प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि अगर उनकी मांगे नहीं मानी जाती तो आंदोलन को तेज किया जाएगा। उन्होंने कर्मचारियों की मांगों को अनदेखा करने का आरोप भी लगाया है।

540 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *