25 करोड़ करेंसी के मामले में स्टे सौंपने पहुंचे बिल्डर संजीव मित्तल से पुलिस ने की पूछताछ

25-crores-currency

मेरठ : पिछले वर्ष 29 दिसंबर को 25 करोड़ की पुरानी करेंसी की बरामदगी के बाद चर्चित हुआ बिल्डर संजीव मित्तल सुप्रीम कोर्ट से अरेस्टिंग स्टे हासिल करने के बाद ब्रहस्पतिवार को पुलिस के सामने पेश हुआ। अपने वकील को लेकर सीओ ब्रहमपुरी कार्यालय पहुंचे संजीव मित्तल ने सीओ अखिलेश भदौरिया को सुप्रीम कोर्ट का स्टे सौंपा। इस दौरान पुलिस ने उससे बंद कमरे में काफी देर तक पूछताछ की।
बताते चलें कि राजकमल एन्क्लेव स्थित बिल्डर संजीव मित्तल के कार्यालय से कंकरखेड़ा पुलिस ने 25 करोड़ की पुरानी प्रतिबंधित करेंसी बरामद की थी। जिसके बाद से वह फरार था। दो दिन पूर्व उसे सुप्रीम कोर्ट से छह सप्ताह के लिए अरेस्टिंग स्टे हासिल हुआ है। सीओ ब्रहमपुरी के कार्यालय पहुंचे बिल्डर संजीव मित्तल के चेहरे पर घबराहट साफ दिखाई दे रही थी। बिल्डर संजीव मित्तल मीडिया से भी मुंह छिपाता रहा। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने उससे पुरानी करेंसी के विषय में जानकारी की तो उसने नोटों के अपने कार्यालय में होने की जानकारी से ही इंकार कर दिया। वहीं बिल्डर के अधिवक्ता के अनुसार उन्होंने सीओ कार्यालय और कोर्ट में स्टे दाखिल करते हुए संजीव मित्तल को गिरफ्तार न किए जाने की सूचना दे दी है। शाम चार बजे उन्हें आयकर विभाग में बुलाया गया है। उन्होंने इस मामले में पुलिस और आयकर विभाग का सहयोग किए जाने का दावा किया।

94 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *