लाठीचार्ज के विरोध में दो दिन कार्य से विरत रहेंगे अधिवक्ता, जमानती पत्रों और नए दावों पर होगी सुनवाई

court

मेरठ : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी के मेरठ आगमन पर विरोध जता रहे अधिवक्ताओं पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज के बाद वकीलों का आक्रोश शांत नहीं हुआ है।
दीपावली के चलते कई दिनों के अवकाश के बाद सोमवार को कहचरी खुलने के बाद मेरठ एसोसिएशन के बैनर तले अधिवक्ता जिला जज से मिले। इस दौरान बार के अध्यक्ष रोहिताश्व कुमार अग्रवाल और महामंत्री प्रबोध कुमार शर्मा के साथ पहुंचे वकीलों ने पुलिस द्वारा वकीलों पर किए गए लाठीचार्ज की निंदा की। उन्होंने 23 और 24 अक्टूबर को कार्य से विरत रहने की घोषणा की। हालांकि वादकारियों और जेल में बंद बंदियों की परेशानियों को देखते हुए यह निर्णय लिया गया कि इन दो दिन जमानती प्रार्थना पत्रों और नए दावों पर सुनवाई को नहीं रोका नहीं जाएगा। बैठक में यह तय किया गया कि 25 अक्टूबर से अधिवक्ता नियमित रूप से न्यायिक कार्य सुचारू कर देंगे। इस दौरान कई वरिष्ठ अधिवक्तागण मौजूद रहे। गौरतलब है कि वकीलों पर हुए लाठीचार्ज को संज्ञान में लेते हुए बार काउंसिल आॅफ यूपी भी मेरठ के अधिवक्ताओं की पैरवी में उतर आई है।

103 Total Views 2 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *