मण्डलायुक्त ने की कर करेत्तर व राजस्व वसूली की समीक्षा

ax-and-non-tax-revenue-collection-review

मेरठ : आयुक्त सभागार में कर करेत्तर व राजस्व वसूली की समीक्षा करते हुए आयुक्त आलोक सिन्हा ने कहा कि राजस्व वाद में सबसे खराब कार्य करने वाले पीठासीन अधिकारियों को प्रतिकूल प्रविष्टि देते हुए उसकी आख्या एक सप्ताह के अन्दर उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि राजस्व वसूली में तेजी लायें।

अपर आयुक्त गया प्रसाद ने बताया कि स्टॅाम्प एवं पंजीकरण मद में 500480 लाख रूपये के वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष 154837 लाख रूपये जुलाई माह तक प्राप्त किये गये हैं। राज्य आबकारी शुल्क में 308539 लाख रूपये के सापेक्ष 71301 लाख रूपये जुलाई माह तक प्राप्त किये गये है वाणिज्य कर में 1428259 लाख रूपये के वाषिक लक्ष्य के सापेक्ष 369299 लाख रूपये जुलाई माह तक प्राप्त किये गये है। उन्होंने बताया कि जमीदारी विनाश अधिनियम अन्तर्गत 05 से 10 वर्ष पुराने 401 वाद व 10 वर्ष से अधिक 18 वाद हैं। इस अवसर पर वाहन कर, माल कर, यात्री कर विद्युतकर, मनोरंजन कर, खनन एवं धातु कर, वानिकी एवं वन्य कर, स्टॉम्प देय, विद्युत देय व बैंक देय पर विस्तार से चर्चा की गयी एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। इस अवसर पर सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।

202 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *