मृतक परिवार का सहारा बनेगी मा0 मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना : समीर वर्मा

dm meerut

मेरठ : मा0 मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना के क्रियान्वयन के सम्बंध मे कलैक्ट्रेट स्थित बचत भवन सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी समीर वर्मा ने सम्बंधित अधिकारियों एव बीमा कम्पनियों को निर्देशित किया कि यह शासन की सामाजिक सुरक्षा की यह महत्वपूर्ण योजना है, जिसके अन्तर्गत परिवार के मुखिया/रोटी अर्जक को व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा लाभ के अतिरिक्त उन्हें तथा परिवार के समस्त सदस्यों को दुर्घटना के उपरान्त चिकित्सा का लाभ मिलता है । उन्होने बताया कि बीमित व्यक्तियों को इसके लिए किसी प्रकार का बीमा प्रीमियम भुगतान नही करना होता है। उन्होंने बताया कि मुखिया/रोटी अर्जक की दुर्घटना में मृत्यु होने पर पांच लाख का बीमा व दुर्घटना में चिकित्सा क्लेम का ढाई लाख रूपया दिया जाता है।

जिलाधिकारी ने मा0 मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना की समीक्षा करते हुए सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि वे मृतक की पोस्र्टमार्टम रिपोर्ट प्राप्त होने पर उसका सत्यापन निर्धारित एक माह में अवश्य करायें तथा उसमें बिना किसी कारण के अनावश्यक विलम्ब न होने दें। उन्होंनेे कहा कि किसी भी जरूरतमंद पात्र व्यक्ति को शासन से मिलने वाली आर्थिक सहायता उसे समय से बिना किसी व्यवधान के प्रदान करायें तथा इसकी नियमित माॅनीटरिंग स्वंय करें। उन्होंने ओरियेन्टल इंश्योरेस कम्पनी के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह प्रस्तुत दावों को आंकलन मानकों के अनुरूप सकारात्मक सोच के साथ सही से करें तथा प्रस्तुत दावे के निरस्तीकरण का आधार गठित समिति के समक्ष प्रस्तुत करें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को भी निर्देषित किया कि वे पोस्टमार्टम रिर्पोट बिना विलम्ब करें उपलब्ध करायें ताकि आगे की कार्यवाही समय से सम्पन्न हो सकें ।

जिलाधिकारी ने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना के अन्तर्गत ऐसे समस्त कृषक (राजस्व अभिलेखों एव खतौनी में दर्ज खातेदार/सहखातेदार) प्रदेश के निवासी जिनकी आय वार्षिक पारिवारिक रूपये 75 हजार से कम है चाहे वह किसी भी व्यवसाय/कार्य में होे, योजना की अवधि में 18 वर्ष से 70 वर्ष के मध्य की आयु के ऐसे मुखिया/रोटी अर्जक की दुर्घटना मृत्यु/विकलांग होने की दशा में लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र होंगे। उन्होंने बताया कि बीपीएल कार्ड धारक व समाजवादी पेंशन धारक को इस योजना के लाभ हेतु आय प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं होगी। उन्होंने बताया कि योजना के लाभ हेतु परिवार के मुखिया/रोटी अर्जक/नाॅमिनी/कानूनी वारिस को बीमा कम्पनी/मुख्यमंत्री बैंकिग एवं बीमा हेल्पलाइन 1520की वेबसाइट पर उपलब्ध क्लेम फार्म के साथ 03 माह के अन्तर्गत आवेदन करना अनिवार्य होगा।

उन्होंने बताया कि योजनान्तर्गत परिवार का मुखिया/रोटी अर्जक (पुरूष/स्त्री) उसकी पत्नि/पति, अविवाहित पुत्री, आश्रित पुत्र एवं अविवाहित पुरूष के आश्रित माता पिता बीमा का लाभ प्राप्त कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि बीमित व्यक्ति की रेल/रोड/वायुयान से दुर्घटना, किसी भी टकराव, गिरने के कारण चोट, गैस रिसाव, बिच्छु, नेवला, छिपकली काटने से मरना, सिलेण्डर फटने के कारण विस्फोट, कुत्ता काटने, किसी जंगली जानवर के काटने तथा आक्रमण से जलना, डूबना, बाढ में बह जाना, किसी भी प्रकार से हाथ-पैर कटजाना एवं विषाक्तता आदि दुर्घटना होेने पर अधिकतम 05 लाख रूपये का हितलाभ प्रदान किया जाएगा।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त आनन्द कुमार षुक्ला,समस्त उप जिलाधिकारी,अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी, डी0पी0आर0ओ0, जिला बेसिक षिक्षा अधिकारी व ओरियेन्टर इन्सोरेन्स कम्पनी के पदाधिकारी सहित संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे ।

653 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *