आयुक्त ने की एमडीए के कार्यों की समीक्षा

meting

मेरठ : आयुक्त सभागार में मेरठ विकास प्राधिकरण के कार्यो की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए आयुक्त डा0 प्रभात कुमार ने अनाधिकृत निर्माण पर पैनी नजर रखकर कार्रवाई करनंे, अवर अभियंताओं को सवेरे अपने अपने इलाकों में भ्रमण कर अवैध निर्माणों को चिन्हित करने, गरीब आदमी का हक मारने व सम्पत्ति में जालसाजी करने वालों को जेल भेजने, बिना मानचित्र स्वीकृत कराये निर्माण कार्य मिलने पर सम्बंधित क्षेत्र के अधिकारी के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने अधिकारियों को अपने कार्यों को पूर्ण तन्मयता, ईमानदारी व गम्भीरता पूर्वक करने के लिए निर्देशित किया।

आयुक्त ने कहा कि न तो आप अनाधिकृत निर्माण तोड़ते है और न ही शमन की कार्यवाही ठीक प्रकार से करते है, यह सब अब नहीं चलेगा। उन्होंने अनाधिकृत निर्माण मुझे दिखते है मगर आप लोगो को नहीं दिखते है। उन्होंने अधिकारियों को एक माह का समय देते हुए कहा कि अगर अगली समीक्षा बैठक तक ठोस व प्रभावी कार्यवाही नहीं की गयी तो सम्बंधित अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि दी जाएगी। उन्होंने कहा कि अगर यही सब चलता रहा तो एमडीए कैसे अपने आप को बनाये रखेगा।

उन्होेने निर्देशित किया कि एमडीए अपनी कालोनी मे रेजिडेन्ट वैलफेयर एसोसिएशन (आरडब्लूए) का गठन करें ताकि वह सफाई आदि व्यवस्थाओं में एमडीए का सहायक हो सके। उन्होंने एमडीए द्वारा विकसित की गयी कालोनियों में कम्युनिटी सेन्टर बनाने के लिए भी निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि वह नवम्बर में कालोनियों का स्वंय जाकर देखेंगे। उन्होंने कहा कि एमडीए द्वारा विकसित की गयी कालोनिया अन्य कालोनियों से अच्छी व्यवस्थाओं वाली व साथ सुथरी होनी चाहिए।

उन्होंने सभी अवर अभियंताओं को सवेरे अपने अपने इलाकों में भ्रमण कर अवैध निर्माणों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने ग्राम्य आवास कालोनी के ले आउट प्लान को जांच कर जल्द कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने अनाधिकृत निर्माण को नियंत्रित करते हुए शमन व धवस्तीकरण की कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया।
उन्होंने अवैध निर्माणों को नोटिस देने व पार्किंग के स्थान पर बनी दुकानों को सील करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि एमडीए द्वारा प्रत्येक माह कितने नक्शे पास किये जाते है, कितने निर्माण वास्तविकता में चल रहे है इसका निरीक्षण कर पूरी तैयारी के साथ कार्यवाही करें। उन्होंने प्राप्त आपत्तियों की जांच कर उनके निस्तारण करने के लिए निर्देशित किया।

उन्होंने गैर आवासीय सम्पत्तियों के सापेक्ष भवन स्वामियों की बकाया देय धनराशि का भुगतान भवन स्वामियों द्वारा जमा न करने पर उनका आवंटन निरस्त करने के लिए निर्देशित किया, बकायेदारों में वेदव्यासपुरी में मै0 अंसल लैण्ड मार्क टाउनशिप्स प्रा0लि0 पर 31 करोड़ 08 लाख 832 रूपये , डिलाइट होम्स प्रा0लि0 पर 16 करोड़ 74 लाख 23 हजार 407 रूपये, एम्स प्रमोटर्स प्रा0लि0 पर 32 करोड़ 95 लाख 42 हजार 310 रूपये, गंगानगर में श्री देवन्द्र कुमार गर्ग पर 01 करोड़ 06 लाख 77 हजार 903 रूपये, श्रृद्धापुरी फेस 2 में मां लक्ष्मी हाउसिंग एण्ड हैल्थ वैलफेयर ट्रस्ट पर 64 लाख 41 हजार रूपये, स्पोटर्स गुडस काॅम्पलेक्स में श्री कमल कुमार पर 60 लाख 54 हजार 676 रूपये, श्रृृद्धापुरी फेस 1 में मै0 दीपक बिल्डर्स पर 02 करोड़ 71 लाख 52 हजार 878रूपये, पांडवनगर में श्री नरेश कुमार व अन्य पर 52 लाख 91 हजार 691 रूपये बकाया देय धनराशि है।

उन्होंने एमडीए द्वारा पूर्व ंमें स्वीकृत कालोनी में निर्माण कर्ता द्वारा अनुबंध की शर्तो के अनुसार कार्य कराया गया है या नहीं इसकी जांच करने तथा यदि कोई विकास कार्य शेष रह गया है तो उसको पूर्ण कराने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने अधिकारियों को एमडीए की पूर्ण भूमि का ब्यौरा रखने व उसका समय समय पर निरीक्षण करने के लिए निर्देशित किया तथा पूर्ण क्लीन रिक्त सम्पत्ति एमडीए के पास है इसकी सूची बनाने तथा जो पूर्ण क्लीन रिक्त सम्पत्ति नहीं है उस पर प्रभावी कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया।
उन्होंने कहा कि एमडीए में भवन संचालन की प्रक्रिया को और अधिक कारगर एवं प्रभावी बनाने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने अर्जित विकसित सम्पत्त्यिों आदि के कार्यो की कालोनीवार जांच कर एक माह में आख्या देने के लिए निर्देशित कियां। उन्होंने कहा कि जिन प्रकरणों में सम्पूर्ण धनराशि जमा हो गयी है उनके स्वामी को नोटिस दें की वह अपनी सम्पत्ति की लीज या रजिस्ट्री कराये।

एमडीए के सचिव राजकुमार ने बताया कि अप्रैल 2017 से सितम्बर 2017 तक एमडीए द्वारा 421 आवासीय, 46 गैर आवासीय व 21 औद्योगिक मानचित्र स्वीकृत किये गये।

इस अवसर पर सीटीपी जे0एन0 रेडडी, मुख्य अभियंता दुर्गेश श्रीवास्तव, वित्त निंयत्रक वसी मौहम्मद, टाउन प्लानर के0के गौतम, जोन के अधिशासी अभियंता पीपी सिंह, डीसी तोमर, राजीव सिंह, एई नीरज कुमार, धीरज सिह, तहसीलदार मनोज कुमार सिंह सहित अवर अभियंता व अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

86 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *