10 हजार में दे रहे थे 32 हजार का माल, पुलिस ने कार की सीट हटाई तो फटी रह गर्इं आंख…

Delivering-in-32-thousand-10-thousand

मेरठ : पल्लवपुरम थाना पुलिस ने बुधवार को चेकिंग के दौरान 16 किलो गांजे के साथ चार तस्करोें को दबोचने का दावा किया है। कार की सीट के नीेचे छिपाकर ले जाए जा रहे इस गांजे की कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में 32 लाख बताई गई है। आरोपियों की साथी एक महिला और दो पुरूषों की तलाश की जा रही है।

पुलिस लाइन में पत्रकार वार्ता करते हुए एसपी सिटी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि चारों आरोपियों को बुधवार की सुबह मोदीपुरम चेकपोस्ट से दबोचा गया। इंस्पेक्टर पल्लवपुरम द्वारा आरोपियों की स्विफ्ट कार संख्या यूपी-81-बीएफ -4986 की तलाशी ली गई तो सीट के छिपाकर रखे गए आठ पैकेट बरामद हुए। पैकेटों में करीब 16 किलो गांजा था, जिसकी कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में 32 लाख है। पकड़े गए आरोपियों ने अपने नाम नीरज कुमार पुत्र हरीश चन्द्र, सुनील राजपूत पुत्र राजबहादुर, राजीव गुप्ता पुत्र रमेश चन्द्र और विशाल गुप्ता पुत्र ओमप्रकाश बताए। सभी आरोपी अलीगढ़ के विभिन्न इलाकों के निवासी हैं। बदमाशों की इस चौकड़ी का सरगना नीरज है। पुलिस के मुताबिक नीरज ने बताया कि यह गांजा उसे अलीगढ़ के बेगमबाग निवासी राहुल और नकुल ने दिया था। अलीगढ़ से गांजा लेकर उसे हरिद्वार जाना था और वहां की निवासी मालती नाम की महिला को देना था। नीरज के अनुसार, वह गांजे को इधर से उधर करने के लिए कैरियर का काम करता था जिसकी एवज में उसे दस हजार प्रति चक्कर मिलते थे। पुलिस के अनुसार सभी आरोपी अब तक तीन बार अलीगढ़ से हरिद्वार गांजे की सप्लाई कर चुके हैं। इनमें से दो आरोपियों का अपराधिक इतिहास भी प्रकाश में आया है, जिसकी जांच कराई जा रही है। गांजे के सप्लायर राहुल और नकुल व हरिद्वार में गांजा रिसीव करने वाली मालती की तलाश में दबिश दी जा रही है। वहीं पकड़े गए चारों आरोपियों को जेल भेजा जा रहा है।

5106 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *