खुशियों की धुन और नाच गाने के साथ ससुराल को विदा हुई 85 गरीब बेटियां : डीएम

saadi

मेरठ : समाज के सभी वर्गो की गरीब कन्याओं के हाथों में मेहन्दी रचवाकर उन्हें खुशियों के साथ ससुराल विदा करने तथा उनके उज्जवल भविष्य को सुदृढ बनाने के उददेश्य से जनपद में आज मुख्यमंत्री सामुहिक विवाह योजना के अन्तर्गत विभिन्न वर्गो की 85 बेटियों का अपने अपने धार्मिक रिवाजों के साथ विवाह सम्पन्न कराया गया। इस अवसर पर नवयुगलों को सांसद राजेन्द्र अग्रवाल, विधायक व जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने विवाह जीवन के लिए आर्शीवाद देकर सुखमय जीवन जीवन की कामना की। इस अवसर पर दिव्यंाग रेशमा व साजिद दिव्यांग जोड़े सहित 22 मुस्लिम तथा 63 हिन्दु परिवार ने एक दूसरें को वरमाला पहनाते हुए पूर्ण रीति रिवाज के साथ फेरे लिये व निकाह कुबूल किया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने सामुहिक विवाह कार्यक्रम को सम्बंांेधित करते हुए कहा कि समाज के विभिन्न धर्मो की गरीब कन्याओं का एक ही स्थान पर पूर्ण रीति रिवाजों के साथ विवाह कराकर सभी धर्मो की अनेकता में एकता का सौहार्दपूर्ण संदेश दिया हैं। उन्होनंे कहा कि इस प्रकार के विवाह आयोजनों से जहां गरीब कन्याओं के हाथ पीले होंगे वहीं उनके परिवारों को सरकारी सहयोग से बेटी को बिना दहेज के साथ ससम्मान विवाह करने में आर्थिक मदद मिलेगी।

सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने उक्त विचार आज एसजीएम गार्ड परिसर में सामुहिक विवाह आयोजन के अवसर पर नव दम्पत्तियो को आर्शीवाद प्रदान करते हुए व्यक्त किये। उन्हानंे कहा कि मुख्यमंत्री सामुहिक विवाह योजना के अन्तर्गत 85 बेटियों का प्रशाासन द्वारा विवाह कराना मा0मुख्यमंत्री की अनुठी सोच का परिणाम है। उन्होनंे प्रशासन को बधाई देते हुए कहा कि इस प्रकार का कार्यक्रम बहुत ही विशेष कार्यक्रम है, जिससे समाज के सभी वर्गो ने एक ही स्थान पर रहकर एक दूसरें के रीति रिवाजों को जाना तथा एक दूसरों की शादी की खुशियों में शिरकत की आपसी प्रेम व सामाजिक समरसता परिचय दिया।

कार्यक्रम में 85 नव दम्पत्तियांें के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए जिलाधिकारी अनिल ढींगरा कहा कि इस प्रकार के सामुहिक विवाह आयोजन से समाज के सभी वर्गो में आपसी प्रेम, भाईचारा तथा सौहार्द का वातावरण विकसित होगा। उन्होंने कहा कि इस योजना से जहां बेटियों के हाथ आसानी से पीले होंगे वहीं दहेज जैसी कुप्रथा का भी अंत होगा। उन्होंने कहा कि हमारें समाज में अभी भी बेटा बेटी में अंतर किया जाता है जो समाज के लिए एक अभिशाप है। उन्होंने कहा कि आज के समय में बेटिया हर क्षेत्र में अपनी भूमिका अदा करते हुए अपना व अपने परिवार का नाम रोशन कर नई उंचाइयों को प्राप्त कर रही हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश व केन्द्र सरकार बेटियों व महिला के सम्मान को बनाये रखने तथा उनको और अधिक सशक्त बनाने के लिए अनेको योजनाएं संचालित की जा रही है।

जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वह समाज के सभी वर्गो के लोगो को मुख्यमंत्री की इस महत्वपूर्ण योजना से आच्छादित करें। उन्होंने समाज के विभिन्न धर्मों के गणमान्यों नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि वह ऐसे गरीब परिवारों को चिन्हित करें जिससे उनको सामुहिक विवाह योजना के अन्तर्गत लाभ प्रदान किया जा सके।

इस अवसर मुख्य विकास अधिकारी आर्यका अखौरी ने बताया कि ‘‘मुख्यमंत्री सामुहिक विवाह योजना’’ के अन्तर्गत समाज के सभी वर्गो के गरीब व्यक्तियों की पुत्रियों की शादी हेतु लाभ प्रदान किया जाता है। उन्होंने बताया कि आज जनपद इस अवसर पर 02 दिव्यांगो सहित 22 मुस्लिम तथा 63 हिन्दु परिवार सहित कुल 85 नव दम्पत्तियों का योजनान्तर्गत विवाह कराया गया। उन्होंने बताया कि कन्या के अभिभावक उत्तर प्रदेश के मूल निवासी हों, विवाह हेतु किये गये आवेदन में पुत्री की आयु शादी की तिथि को 18 वर्ष या उससे अधिक तथा वर के लिये 21 वर्ष की आयु पूर्ण होनी अनिवार्य है, तथा आवेदक के परिवार की आय गरीबी रेखा की सीमा के अन्तर्गत होनी चाहिए ।

उन्होंने बताया कि पात्र कन्या के दाम्पत्य जीवन में खुशहाली एवं गृहस्थी की स्थापना हेतु सहायता राशि रूपया 20,000/- मात्र कन्या के खाते में अंतरित की जायेगी, किन्तु विधवा,परित्यक्ता/तलाकशुदा के मामले मंें सहायता राशि रूपया-25000/- होगी, विवाह के कपडे, बिछिया, पायल चाॅदी के तथा 07 बर्तन के लिए रूपया-10 हजार, किन्तु विधवा परित्यक्ता /तलाकशुदा के मामले में यह धनाराशि रूपया 5000/- होगी, कार्यक्रम के आयोजन हेतु भोजन, पण्डाल, फर्नीचर, पेयजल,विधुत/प्रकाश व्यवस्था एवं अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं हेतु रूपया-5000/-प्रति जोडा ग्रामीण/शहरी निकाय स्तर पर गठित विवाह समिति को दिया जायगा, एक जोडे पर कुल रूपया-35000/-रू0 की धनराशि का व्यय किया जाता है।

इस अवसर पर सांसद राजेन्द्र अग्रवाल, विधायक सोमेन्द्र तोमर, रफीक अंसारी, पूर्व एमएलसी सरोजनी अग्रवाल, व जिलाधिकारी अनिल ढींगरा द्वारा 85 नवयुगलों को अर्शिवाद प्रदान करते हुए योजनान्र्गत कन्या को 20 हजार रूपये का स्वीकृति पत्र सहित प्रति जोड़े का एक सिलाई मशीन व गिफ्ट पैक प्रदान किये गये। कार्यक्रम में नव ज्योति वेलफेयर सोसायटी की ओर से महक ब्यूटी पार्लर व सिंड आर सिटी की माधुरी शर्मा के सहयोग से मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत सभी दुल्हनों का मेकअप किया गया।

इस अवसर पर वर वधुओं के परिवारों की महिलाओं ने हष्र्षोल्लास के साथ दंईया री दंईया बनने को नजर न लागे, आदि विवाह गीतों को गाते हुए नृत्य भी किया।

इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 राज कुमार, डीपीआरओ आलोक शर्मा, जिला समाज कल्याण अधिकारी उमेश द्विवेदी, जिला प्रोबेशन अधिकारी श्रवण गुप्ता, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी तारिक अहमद, जिला दिव्यांग अधिकारी अनिल कुमार, सहायक प्रबंध अनु.सू0जा.वि.नि. नरेश कुमार, शहर काजी जैनुल राशिद्दीन सांसद प्रतिनिध हर्ष वर्धन, आलोक सिसौदिया नवज्योति वेलफेयर सोसाइटी की सचिव संगीता श्रीवास्तव, सहित समाज के गणमान्य नागरिक व नव युगलों के अभिभावकगण उपस्थित रहे।

67 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *