पूर्व विधायक के दलित कर्मचारी विकलांग दंपत्ति पर टूटा ‘खाकी’ का कहर

मेरठ : योगी सरकार में बेलगाम ‘खाकी’ दलितों पर कहर बरपाने से बाज नहीं आ रही है। कंकरखेड़ा क्षेत्र का एक ताजा मामला सामने आया है।
दरअसल, सिवाल खास के पूर्व विधायक सुंदरलाल वर्मा की रोहटा रोड पर गाडविन पेट्रोल पंप के सामने नारायण गार्डन में दूध की डेरी है। डेरी की देखभाल के लिए उन्होंने अपने रिश्तेदार विकलांग दंपत्ति सत्यवीर और उसकी पत्नी शिखा को काम पर रखा हुआ है। शिखा के अनुसार डेरी के सामने विधायक निधि से रास्ता बनाने के लिए वह 11 जनवरी को नींव भरवा रहे थे। आरोप है कि इसी दौरान डेरी के निकट रहने वाले कांस्टेबल निकुंज यादव और यशपाल सिंह तरार सहित अमित चैधरी, मंगलसेन और उसके पुत्र सोनू व कुछ अज्ञात युवकों ने उन पर चार-पांच फुट रास्ता छोड़कर नींव भरने का दबाव बनाया। इंकार करने पर जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए दंपत्ति पर हमला बोलते हुए महिला के कपड़े फाड़ डाले। पीड़ितों ने बताया कि इस मामले में कई बार पुलिस को प्रार्थनापत्र दिए गए, लेकिन पुलिस ने उन्हें डपटकर थाने से भगा दिया। पीड़ितों ने बताया कि उन्हांेंने इस मामले में अनुसूचित जाति आयोग और कप्तान से शिकायत की थी। आयोग और कप्तान दोनों ने संबंधित थाना पुलिस को आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही के आदेश दिए थे। आरोप है कि थाना पुलिस ने आयोग और कप्तान के आदेश ताक पर रख दिए और खुले घूम रहे आरोपी पीड़ित परिवार को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। वहीं सीओ दौराला पंकज कुमार ने मामला संज्ञान में न होने की बात कही है।

430 Total Views 26 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *