डीएम बी. चन्द्रकला ने किया ग्राम वलीदपुर से विशेष स्वच्छता सप्ताह अभियान का आगाज

Respect-of-women

मेरठ : प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान कार्यक्रम के तहत जिलाधिकारी बी. चन्द्रकला ने आज प्रातः 10-30 बजे विकास खण्ड दौराला के ग्राम वलीदपुर के प्राथमिक विद्यालय के प्रागण में आयोजित चौपाल में पहुंचकर उपस्थित ग्रामवासियों को स्वच्छता सकंल्प की शपथ दिलाकर 27 मार्च से 02 अप्रैल तक चलने वाले विशेष स्वच्छता सप्ताह अभियान का आगाज किया। जिलाधिकारी ने कहा कि स्वच्छता अभियान को सफल बनाने में एक सफल कार्य योजना बनाकर जनपद को 15 मई तक पूर्णतः ओडीएफ घोषित कर दिया जाएगा तथा जनपद में 150 घण्टे में 20 हजार शौचालय का निर्माण कराया जाएगा। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने ग्राम में धर्मपाल के घर में निर्माणाधीन शौचालय में स्वंय चिनाई कर गुणवत्ता को बनाये रखने हेतु सम्बंधित को निर्देशित किया।

जिलाधिकारी ने ग्रामवासियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमें अपने जीवन की कार्यशैली में स्वच्छता एवं साफ-सफाई के महत्व को अपनाते हुए महिलाओं के सम्मान व सुरक्षा को बनाये रखना जरूरी है। उन्होंने कहा कि सभी ग्रामवासियों का यह कर्तव्य है कि वह अपने घर की महिलाओं के लिए घर में इज्जत घर का निर्माण अवश्य करायें, जिससे प्राचीन काल से चली आ रही खुले में शौच जैसी कुप्रथा का अन्त हो सके। उन्होंने कहा कि खुले में शौच के कारण हम बहन-बेटियों की इज्जत को नजर अंदाज करते है तथा बीमार पडने पर उसके इलाज पर होने वाले अनावश्यक व्यय होने पर अपनी आर्थिक स्थिति कमजोर होने के लिए जानकर भी खुले में शौच करने जैसी बहुत बडी भूल करते है, जिसके जड से खात्मे हेतु हमे अपनी सोच बदलकर शौचालय का निर्माण कराना होगा। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार हमने आपसी सहयोग एवं जागरूकता से अनेकों मुकाम हासिल किये उसी प्रकार जागरूक होकर वर्षो से चली आ रही कुप्रथा को त्याग कर मा0 प्रधानमंत्री जी के स्वच्छ भारत अभियान कार्यक्रम को आगे बढायेंगें।

जिलाधिकारी ने कहा कि मेरठ जनपद के ग्राम प्रधान बहुत जागरुक है, जिनमें इच्छाशक्ति की कोई कमी नही ,बल्कि उन्हें कोई काम की शुरुआत करने की जरुरत है, जिसकों वे अपने अथक परिश्रम व लगन से उस कार्य को पूर्ण करते है। उन्होंने कहा कि ग्राम प्रधानों एवं ग्रामवासियों के सहयोग से ग्राम को स्वच्छ रखने व महिलाओं के सम्मान को सुरक्षित करने के साथ गांव के सर्वागीण विकास के अनेकों कार्य ग्रामों में हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का कहना है स्वच्छता भारत अभियान का कार्यक्रम एक सरकारी कार्यक्रम नहीं है यह हर नागरिक का अपना एक कार्यक्रम है। उन्होंने कहा कि जनपद मेरठ में स्वच्छता के प्रति एक अत्यधिक उत्साह है, जिसके कारण हमनें जनपद के 109 ग्राम को ओडीएफ घोषित कर दिया है तथा जनपद को 15 मई तक पूणर्तः ओडीएफ घोषित करा लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि यहां के लोग सरकारी सहायता के बिना ही शौचालयों को निर्माण करा रहे है जो सराहनीय है।

जिलाधिकारी ने ग्रामवासियों से कहा कि विकास का मतलब बिल्डिंग, सड़के, वाहन, मोबाइल आदि से ही नही होता ,बल्कि सबसे पहले हमें शिक्षित व आचरणवान बनना जरुरी होता है, जिसे हम दूसरों के प्रति व्यवहार में प्रदर्शित कर अपनी छाप छोडते है तथा बेहतर समाज की संरचना में योगदान दे सकें। उन्होंने कहा कि मानव मल एक बम्ब से भी खतरनाक है,जो हमें खुले में शौच द्वारा अनेक बीमारियों, सम्मान व सुरक्षा को प्रभावित करता है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण महिलायें घर में इज्जत घर न होने की दशा में खाना व पानी आदि का सेवन भी कम करती है, क्योकिं उन्हें खुले में शोच जाने में हर समय संकोच होता है, जिसका उनके स्वास्थ्य पर दुष्प्रभाव पड़ता है।

जिलाधिकारी ने ग्राम प्रधान श्री जितेन्द्र पाल सिंह से कहा कि वह गांव को ओडीएफ घोषित कराने में सभी ग्रामवासियों को प्रेरित कर सभी के यहां इज्जत घर का निर्माण करायें। उन्होंने ग्रामवासियों से कहा कि वे इस विशेष स्वच्छता सप्ताह में अपने घर को स्वच्छ रखने के साथ अपने आस-पास भी सफाई व्यवस्था बनाये तथा सार्वजनिक स्थानों पर कूडा करकट न डाले। उन्होंने ग्राम में निर्मित शौचालय का निरीक्षण करते हुए गुणवत्ता को जाचां जिसे देखकर हुए काफी प्रसन्न हुई और ग्राम प्रधान के इस कार्य की प्रशंसा की तथा ग्राम की सफाई व्यवस्था को भी देखा।

मुख्य विकास अधिकारी हर्षिता माथुर ने कहा कि वलीदपुर ग्राम के लिए यह एक ऐतिहासिक दिन है जहां पर विशेष स्वच्छता अभियान का आगाज किया गया है। उन्होंने कहा कि वह घर अपूर्ण होता है जिसमें शौचालय नहीं है। उन्होंने कहा कि शौचालय दुकान पर क्रय का साधन नही है, जो अपनी इज्जत के लिए वहां से क्रय कर लेते। इसलिए सभी ग्रामीणजनों को खुले में शौच जैसी बुराई को गांव से समाप्त कर गांव को ओडीएफ घोषित किए जाने में सहयोग करें, जिससे पूरे गांव का विकास होगा। उन्होंने ग्राम प्रधान सरकार द्वारा ग्राम के लिए जारी शासकीय सहयोग से किये जा रहे कार्यो की सराहना की।

उन्होंने बताया कि ग्राम में 455 परिवार है जिनमें से 205 परिवारों के यहां शौचालय नहीं था जिसमें से अब तक 110 के यहां शौचालयों को निर्माण कराया जा चुका है तथा शेष भी जल्द पूर्ण करा लिये जायेंगे। उन्होंने बताया कि इस ग्राम को एक सप्ताह में ओडीएफ घोषित करा लिया जाएगा। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने ग्रामवासियों की समस्याओं को गौर से सुना। ग्राम की महिलाओं ने जिलाधिकारी के समक्ष पेशन सम्बंधी समस्या को रखा जिसे जिलाधिकारी ने खण्ड विकास अधिकारी को शीघ्र समुचित निस्तारण कराने के निर्देश दिये।

जिला पंचायत राज अधिकारी अनिल कुमार सिंह ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए विशेष स्वच्छता अभियान के तहत संचालित कार्याक्रमों की विस्तृत जानकारी प्रस्तुत की। इस अवसर खण्ड विकास अधिकारी दौराला चन्दन देव पाण्डेय सहित संबंधित विभागीय अधिकारी एवं ग्रामवासी उपस्थित रहे।

1338 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *