‘बर्दाश्त नहीं हैं संघियों पर हमले’- राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने निकाला पैदल मार्च

RSS-pulled-by-foot-march

मेरठ : केरल में आरएसएस कार्यालय पर कम्यूनिस्टों द्वारा किए गए हमले के विरोध में शनिवार को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के पदाधिकारियों ने शंकर आश्रम सहित संघ के कार्यालय के पैदल मार्च निकाला। उन्होेंने कलेक्ट्रेट में डीएम के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम सौंपे गये ज्ञापन में केरल सरकार को बर्खास्त किए जाने की मांग की।

राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के प्रांत संघसंचालक सूर्यप्रकाश टांक, प्रांत कार्यवाह फूल सिंह और क्षेत्र संघसंचालक डा दर्शनलाल अरोड़ा के नेतृत्व में संघ के दर्जनों सदस्यों और भाजपाइयों ने शंकर आश्रम से जिला मुख्यालय तक पैदल मार्च निकाला। उन्होंने डीएम को सौंपे ज्ञापन में आरोप लगाया कि केरल की मार्क्सवादी सरकार के संरक्षण में हिंदुओ पर हमले हो रहे हैं। राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के कार्यालयों को कम्यूनिस्टों द्वारा कई बार निशाना बनाया जा चुुका है। सैकड़ो आरएसएस कार्यकर्ता इन हमलों में घायल हो चुके हैं, तो दर्जनो से अधिक जान गंवा चुके हैं। एक दिन पूर्व भी केरल में आरएसएस के कार्यालय पर कम्यूनिस्टों द्वारा हमला किया गया, जिसमें चार आरएसएस कार्यकर्ता घायल हो गए, जिनमें दो की हालत गंभीर बनी है। उन्होंने कहा कि पूर्व में यूडीएफ सरकार के समय में भी आरएसएस पर हमले होते रहे हैं, लेकिन वर्ष 2016 मई में जब से पीनारयी विजयन की सीपीएम सरकार ने कार्यभार संभाला है, कम्यूनिस्ट बेलगाम हो गए हैं। जिसका नतीजा है कि पिछले नौ माह में आरएसएस कार्यकर्ताओं के ऊपर हुए क्रूर हमलों में 15 आरएसएस कार्यकर्ता अपनी जान गंवा चुके हैं। आरएसएस के पदाधिकारियों ने प्रदेश की सीपीएम सरकार को निष्क्रिय बताते बर्खास्त किए जाने की मांग की। इस दौरान महापौर हरिकांत अहलूवालिया, शहर विधायक डा लक्ष्मीकांत वाजपेयी, सुरेन्द्र जी सहित भाजपा और संघ से जुड़े कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।

1056 Total Views 2 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *