हड़ताल पर रहे ‘धरती के भगवान’ मरीजों में मचा हाहाकार

God-of-earth

मेरठ : केन्द्र सरकार द्वारा एमसीआई के स्थान पर नेशनल मेडिकल कमीशन के गठन के विरोध में आईएमए के आह्वान पर मंगलवार को डाॅक्टरों की देशव्यापी हड़ताल का असर मेरठ में भी देखने को मिला। इस दौरान जहां शहर के 1200 डाॅक्टर सुबह नौ से शाम पांच बजे तक हड़ताल पर रहे। वहीं ओपीडी और पैथलाॅजी लैब पर ताला लटका रहा। डाॅक्टरों की हड़ताल के चलते मेडिकल से लेकर जिला अस्पताल और नर्सिंग होम्स में भर्ती मरीजों और उनके तीमारदारों मे हाहाकार मचा रहा।
मंगलवार की सुबह आईएमए के अध्यक्ष डा मेघावी तोमर और सचिव डा सुशील गुप्ता के नेतृत्व में आईएमए हाॅल से शहर के पचास से अधिक डाॅक्टर दिल्ली में होने वाले अनशन में शामिल होने के लिए रवाना हुए। आईएमए में पंजीकृत 1200 सरकारी और प्राइवेट डाॅक्टर हड़ताल पर रहे। जिसके चलते मेडिकल और जिला अस्पताल की ओपीडी भी सूनी पड़ी रहीं। सरकारी अस्पताल ही नहीं, बल्कि नर्सिंग होम्स में उपचार के लिए पहुंचे मरीजों को भी निराश होकर वापस लौटना पड़ा। पैथलोजी लैब और रेडियोडाइग्नोस्टिक सेंटरो पर भी ताले लटके रहे। डाॅक्टरों की हड़ताल के चलते मरीज इलाज के लिए इधर से उधर भटकते नजर आए। बताते चलें कि केन्द्र सरकार द्वारा एमसीआई के स्थान पर एनएमसी बनाए जाने का डाॅक्टर पुरजोर विरोध कर रहे हैं।

123 Total Views 3 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *