अपनी सरपरस्ती में कराए अवैध निर्माण, अब अदालतों के चक्कर काट रहे कैंट बोर्ड के अधिकारी

Illegal-construction

मेरठ : अपनी सरपरस्ती में अवैध निर्माण कराने वाले छावनी परिषद के अधिकारी अब अदालतों के चक्कर काट रहे हैं। उधर, अधिकारियों को अदालतों में उलझाकर अवैध निर्माणकर्ता कंकरीट के जंगल खड़े किए जा रहे हैं। सूत्रों की बात पर यकीन किया जाए तो अपना दामन बचाने के लिए छावनी के कुछ अधिकारी खुद ही अवैध निर्माणकर्ताओं को अदालतों का रास्ता दिखा रहे हैं।
ऐसे एक नहीं कई मामले हैं, जिनमें कैंट बोर्ड के अधिकारी अवैध निर्माणकर्ताओं को सिर्फ नोटिस थमाकर कागजी कार्यवाही पूरी करते रहे। वहीं निर्माणकर्ताओं ने रात-दिन लेबर लगाकर अवैध निर्माणों को उनके अंतिम पढ़ाव तक पहुंचा दिया। आबूलेन स्थित फ्लेवर रेस्टोरेंट के सामने ज्वैलर अंकुर बंसल द्वारा भी इसी प्रकार पहले छावनी परिषद के अधिकारियों से साठगांठ कर तीन मंजिला अवैध काम्पलेक्स का निर्माण किया गया। जब निर्माण पूरा हो गया और मामला सुर्खियों में आने पर छावनी परिषद के क्षेत्रिय अधिकारियों ने अपनी गर्दन फंसती देखी तो बिल्डर ने कोर्ट का सहारा लेकर मामला अटका दिया। सूत्रों की मानें तो कैंट बोर्ड के अधिकारी ऐसी कई फाइलों में पैरवी के स्थान पर उन्हें दबाकर बैठ गए हैं। कार्यवाही की बाबत पूछा जाए तो छावनी के अधिकारी मामला कोर्ट में लंबित होने की बात कहकर अपना पिंड छुड़ा लेते हैं।

495 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *