नोटबंदी के बाद आयकर की बड़ी कार्यवाही, शहर में कई स्थानों पर की छापेमारी

Large-number-of-income-tax-proceedings-after-the-ban,-raid-in-many-places-in-the-city

मेरठ : नोटबंदी के बाद आयकर विभाग ने शहर में बड़ी कार्यवाही करते हुए कई संस्थानों पर एक साथ छापेमारी की। इस दौरान टीम को कुछ स्थानों पर व्यापारियों के विरोध का सामना करना पड़ा। बताया जाता है कि नोटबंदी के बाद जिन व्यापारियों ने अपने बैंक खातों में निर्धारित रकम से अधिक की ट्रांजेक्शन की थी, उनके द्वारा नोटिस का जवाब न देने पर छापेमारी की कार्यवाही की गई है। संयुक्त व्यापार संघ अध्यक्ष नवीन गुप्ता ने छापेमारी पर विरोध जताया है। उधर, छापेमारी के बाद से अन्य व्यापारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

महावीर नगर निवासी विनोद कुमार की टीपी नगर स्थित नवीन मंडी की दुकान नंबर 9 बी में वी राम एंड कंपनी है। विनोद राजधानी रिफाइंड और सरसों के तेल के थोक व्यापारी हैं। वहीं निकट स्थित दुकान नंबर 40 डी नवीन कुमार का मूंगफली, चना, मुरमुरे और चौलाई का थोक का कारोबार है। उधर, शास्त्रीनगर सेंट्रल मार्केट में एमएल जैन का एमएल मेडिकल स्टोर है। बुधवार की दोपहर आयकर विभाग की तीन टीमों ने एक साथ तीनों संस्थानो में छापेमारी की। टीम के अधिकारियों ने तीनों संस्थानों के कर्मचारियों और मालिकों से पूछताछ करते हुए काफी सारे रिकॉर्ड अपने कब्जे में लिये। इस दौरान संस्थानों में न तो किसी को भीतर जाने दिया गया और न ही किसी को अंदर से बाहर जाने की अनुमति दी गई। आयकर की टीमों ने घंटो तक संस्थानो के रिकॉर्ड खंगाले। मामले की जानकारी मिलने पर संयुक्त व्यापार संघ के अध्यक्ष नवीन गुप्ता और कई व्यापारी मौके पर पहुंचे और टीम का विरोध किया। टीम में शामिल अधिकारियों ने व्यापारी नेताओं को बताया कि नौ नवंबर के बाद जिन व्यापारियों ने अपने बैंक खातों में तयशुदा सीमा से अधिक कैश ट्रांजेक्शन किये हैं, उन सभी को आयकर विभाग द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। यह कार्यवाही उसी क्रम में की जा रही है। व्यापार संघ अध्यक्ष ने विरोध जताते हुए कहा कि आयकर द्वारा व्यापारियों की मेल पर नोटिस भेजे गए हैं। कई व्यापारी ऐसे हैं जो कई माह तक अपनी मेल चेक नहीं कर पाते, ऐसे में या तो उन्हें लिखित नोटिस देकर जवाब मांगा जाए या जवाब देने के लिए समय दिया जाए। उन्होंने चेतावनी दी कि व्यापारियों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। काफी देर चले हंगामे के बाद आयकर की टीमें वापस लौट गर्इं। उधर, आयकर के छापों से व्यापारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

3503 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *