विधान परिषद की प्रश्न एवं सन्दर्भ समिति ने किया जनपद का दौरा

meting

मेरठ : उत्तर प्रदेश विधान परिषद की प्रश्न एवं सन्दर्भ समिति ने मा0 सदस्य वीरेन्द्र सिहं की सभापतित्व में आज जनपद का भ्रमण कर विकास कार्यो की प्रगति का आंकलन व विधान परिषद मंे मा0 सदस्यों द्वारा उठायें गये प्रश्नों की अद्यतन स्थिति की जांच की। विकास भवन में आहुत बैठक की अध्यक्षता करते हुए मा0 सदस्य वीरेन्द्र सिंह ने अधिकारियों को विकास कार्यो में गति लाने, विधान परिषद मंे उठायें गये प्रश्नों के संदर्भ में प्राथमिकता से कार्य करते हुए ससमय अद्यतन स्थिति से शासन को अवगत कराने के लिए निर्देशित किया।

मा0 सदस्य वीरेन्द्र सिंह ने सिचाई विभाग के अधिकारियो को टेल तक पानी पहुंचाने, भू-माफियाओं पर कार्यवाही करने, व योजनाओं से पात्रों को लाभान्वित करने के लिए निर्देशित किया।

मुख्य विकास अधिकारी आर्यका अखौंरी ने बताया कि विधान परिषद से 23 प्रश्न जनपद को सन्दर्भित हुए थे जिसमें से 22 का उत्तर भेजा जा चुका है व एक पर जंाच चल रही जाचोंपरान्त आख्या शासन को प्रेषित की जाएगी। उन्होंने बताया कि एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स द्वारा शासन के निर्देशों के क्रम में जनपद के 11 बड़े भू-माफियाओं को चिन्हित किया गया है व उनके विरूद्ध कार्यवाही की जा रही है।

मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि 01 सितम्बर से विभागों में ई-टेण्डिरिंग प्रक्रिया प्रारम्भ की गयी है। आरईएस विभाग द्वारा प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़ योजना के अन्र्तगत 06 पैकेज सड़कों का निर्माण कराया जाना है जिसमें से 04 पर कार्य चल रहा है व दो का टेण्डर फाइनल हुआ है व अनुबंध तैयार किया जा रहा है।

मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि जनपद में लक्ष्य के सापेक्ष 85 प्रतिशत सड़कों को गडडा मुक्त किया जा चुका है तथा शेष 15 प्रतिशत में ऐसी सड़के आ रही है जिनको मरम्मत से ठीक नहीं किया जा सकता है इसके लिए शासन को लिखा गया है। उन्होंने बताया कि फसल ऋण मोचन योजना के अन्तर्गत जनपद मंे दो चरणों में कृषकों का 205 करोड़ रूपये का ऋण माफ किया गया है।

विद्युत विभाग के अधिशासी अभियंता ने बताया कि जनपद के शहरी क्षेत्र में आईपीडीएस योजना के अन्तर्गत 173.91 करोड़ रूपये से कार्य कराये जाने है जिसमें से 40 करोड़ रूपये का कार्य पूर्ण हो गया है। उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्र में 18 नये बिजली घर बनेंगे। उन्होंने बताया कि तीन उपकेन्द्रांें को उर्जीकृत व 13 की क्षमतावृद्धि की गयी है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के अन्तर्गत 158.83 करोड़ रूपये से कार्य कराये जाने है जिसमें से 25 करोड़ रूपये के कार्य पूर्ण कराये जा चुके है। उन्होंने बताया के ग्रामीण क्षेंत्रों में 07 नये विद्युत उपकेन्द्र बनायें जाने है जिसमें से 01 पूर्ण हो गया है तथा 06 उपकेन्द्रांें पर कार्य चल रहा है। 07 उपकेन्द्रों की क्षमता वृद्धि की जानी है जिसमें से 06 पर कार्य पूर्ण हो गया है।

उन्होनें बताया कि सासंद आदर्श ग्राम योजना के अन्तर्गत चिन्हित दोनो गामों में विद्युतीेकरण व अन्य कार्य पूर्ण करा दिये गये है। उन्होंने बताया कि जनपद के शहरी क्षेंत्रों में 24 घण्टे निर्धारित आपूर्ति के सापेक्ष 22.52 घण्टे व ग्रामीण क्षेत्र में 18 घण्टे निर्धारित आपूर्ति के सापेक्ष 16.28 घण्टा विद्युत आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने बताया कि सभी ग्रामों मे विद्युतीकरण किया गया है व बसावटों में भी विद्युत आपूर्ति की जा रही है।

सीएमओ डा0 राजकुमार ने बताया कि उनके द्वारा कराये गये सरकारी अस्पतालों के निरीक्षण में अनुपस्थित पाये गये चिकित्सकों व कर्मचारियों का वेतन रोककर उनसे स्पष्टीकरण तलब किया गया है। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा रात्रि में सरकारी अस्पतालों का औचक निरीक्षण करने के लिए टीमे गठित की गयी है।

बैठक में ग्राम विकास, पंचायती राज, बेसिक शिक्षा, सिंचाई, कृषि, समाज कल्याण सहित अन्य विभागीय कार्यो की समीक्षा की गयी व आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये।

इस अवसर पर समिति के सदस्यो में रामसकल गुर्जर, आशु मलिक, उमर अली, अधिकारियों मे अपर जिलाधिकारी वित्त आनन्द कुमार शुक्ल, नगर मजिस्ट्र एमपी सिंह, परियोजना निदेशक डीआरडीए भानू प्रताप सिह, जिला विकास अधिकारी अतुल मिश्रा, साख्यिकी अधिकारी अजया चैधरी सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

104 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *