प्रेमिका की खातिर बेटे ने ही रेता था डाकिया बाप का गला

Mailman's-throat

मेरठ : जिस बाप ने उंगली पकड़कर चलना सिखाया, कलयुगी बेटे ने प्रेमिका की खातिर उसी बाप का गला रेत डाला। परतापुर में हुए डाकिया हत्याकांड का सनसनीखेज खुलासा करते हुए पुलिस ने मृतक के पुत्र व उसके साथी आला-ए-कत्ल सहित गिरफ्तार किया है।
एसपी सिटी मानसिंह चैहान ने पत्रकार वार्ता करते हुए बीती 1 फरवरी को काजमाबाद गून में हुई पोस्टमैन चंद्रपाल की हत्या का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि इस घटना को अंजाम देने वाले चंद्रपाल के पुत्र तरूण उर्फ हनी और उसके दोस्त सनी पुत्र धर्मवीर को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस के मुताबिक चंद्रपाल के पुत्र तरूण का एक युवती से प्रेम प्रसंग था और दोनों शादी करना चाहते थे। लेकिन युवती के परिजन उसकी शादी किसी सरकारी कर्मचारी से करने पर अड़े थे। आरोपी तरूण सीआरपीएफ की परीक्षा में शामिल हुआ, लेकिन फिजिकल में सलेक्ट नहीं हुआ। प्रेमिका को पाने के लिए उसने अपने और पे्रमिका के परिजनो से खुद के सीआरपीएफ में सलेक्ट हो जाने की बात कह दी। इसके बाद उसने सीआरपीएफ की नकली वर्दी खरीदी और खुद को 89 बटालियन सीआरपीएफ में एसआई बताने लगा। जब उसका पिता उसके वेतन के बारे पूछता तो बहाना बना देता था। उधर, अब उसे भेद खुलने का डर सताने लगा था। उसने अपने दोस्त सनी को दो लाख की रकम का लालच देते हुए अपने पिता की हत्या के लिए तैयार कर लिया। तरूण की प्लानिंग थी कि पिता की मौत के बाद उसे अपने पिता की सरकारी नौकरी मिल जाएगी। इसके बाद वह अपनी प्रेमिका से शादी कर लेगा। आरोपियों के कब्जे से हत्या में प्रयुक्त लोहे की राॅड, चाकू, सीआरपीएफ की वर्दी व बैच आदि बरामद हुए हैं।

343 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *