जाल बांधा, गोताखोर लगाए, लेकिन नहीं मिले गंगनहर में डूबे युवक

Mesh-fastened,-diver-planted-but-not-immersed-in-Gangnhr-youth

मेरठ : जानी थाना क्षेत्र की गंगनहर में सोमवार की शाम डूबे दो और युवकों की तलाश बुधवार को दूसरे दिन भी जारी रही। पीएसी के एक दर्जन गोताखोर युवकों की तलाश में जुटे रहे, नहर के दोनों सिरों पर जाल भी लगाया गया, लेकिन दोपहर बाद तक युवकों का कोई सुराग नहीं लगा। अनुमान लगाया जा रहा है कि युवक गहरे पानी में समा गए हैं। संभवत: अगले 24 घंटो के भीतर फूलने के बाद पानी में शवों के  ऊपर आने का अंदाजा लगाया जा रहा है। उधर, नहर में डूबे युवकों के परिजन बुधवार को भी इस आस में नहर किनारे डटे रहे कि शायद उनके जिगर के टुकड़े सलामत मिल जाएं। रेस्क्यू आॅपरेशन के दौरान गंगनहर के किनारे लोगों की भीड़ लगी रही।

बताते चलें कि रिठानी की पुट्ठा रोड स्थित कैलाशपुरी निवासी अजय (22) पुत्र हरपाल और राजेन्द्र (20) पुत्र सुरेश सोमवार को जानी के सतवई निवासी सोनू पुत्र धनीराम की सगाई में शामिल होने गए थे। वहां से वापस लौटते समय देर शाम युवकों की बाइक टीकरी पुलिया के निकट गंगनहर में गिर गई। युवकों को खोजते हुए टीकरी पहुंचे परिजनों और ग्रामीणों सड़क किनारे उन्हें अजय का हेलमेट पड़ा मिला और नहर में बाइक का हैंडिल तैरता दिखाई देने पर बाइक को नहर से बाहर निकाला गया। परिजनों के अनुसार अजय के दो बच्चे हैं, जबकि राजेन्द्र अभी अविवाहित है। घटना के बाद से मंगलवार की शाम तक पुलिस के गोताखोरों की टीम नहर मेें समाए युवकों की तलाश में जुटी रही, लेकिन रात तक कोई सुराग न मिलने पर रेस्क्यू आॅपरेशन बंद कर दिया गया। बुधवार की सुबह एक बार फिर से युवकों की तलाश में पीएसी के दर्जन भर गोताखोर नहर में उतरे। नहर के दोनों छोर पर जाल भी लगाया गया। दोपहर बाद तक नहर में डूबे युवको का सुराग नहीं लगा था और तलाश जारी थी।

949 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *