पानीपत का दलाल मेरठ में करा रहा था लिंग परीक्षण, डायग्नोस्टिक सेंटर पर हुआ ये हाल…

Panipat-broker-was-doing-sex-test-in-Meerut,-at-Diagnostic-Center

मेरठ : लिंग जांच रोकने में मेरठ के चिकित्सा अधिकारी नाकाम हो गए हैं। आलम यह है कि शहर में जगह-जगह खुले डाॅयग्नोस्टिक सेंटर पर खुलेआम कानून को ताक पर रखकर लिंग जांच चल रही है। मेरठ या यूपी ही नहीं बल्कि आसपास के राज्यों के मरीजों को भी दलालों के माध्यम से लिंग जांच के लिए बुलाया जा रहा है। मगर हर बार दूसरे राज्यों से टीम आकर कोख के इन कातिलों के खिलाफ कार्यवाही करती है और मेरठ प्रशासन खामोश बैठ जाता है।

शुक्रवार को भी कुछ ऐसा ही हुआ पानीपत की टीम ने एक दलाल पर शिकंजा कसते हुए जाग्रति विहार में लिंग परीक्षण करने का सौदा कर रहे डायग्नोस्टिक सेंटर संचालक को साथी सहित दबोच लिया। आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की जा रही है। दरअसल, पानीपत की स्वास्थ्य विभाग की टीम को मेरठ में कई डायग्नोस्टिक सेंटरों में दलालों के माध्यम से लिंग परीक्षण कराए जाने की सूचना मिली थी। जिस पर कार्यवाही करते हुए पानीपत की स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जाल बिछाया। योजना के तहत अधिकारियों ने अपनी परिचित एक महिला को पानीपत निवासी दलाल जयभगवान के भेजा। जयभगवान ने महिला से उसके गर्भ में पल रहे शिशु का लिंग परीक्षण कराने की एवज में 14 हजार की रकम तय की। जिस पर आज महिला ने उसे चार हजार की रकम सौंप दी। महिला से रकम लेते जयभगवान को टीम ने रंगे हाथ दबोच लिया। जिसके बाद पानीपत स्वास्थ्य विभाग के डिप्टी सीएमओ और पीसीपीएनडीपी के नोडल अधिकारी डा आदर्श शर्मा एक महिला डाॅक्टर और तीन पुलिसकर्मियों की टीम के साथ दलाल और महिला को लेकर मेरठ पहुंचे। यहां पहुंचते ही पानीपत स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मेरठ के सिटी मजिस्ट्रेट अवधेश सिंह और मेरठ में पीसीपीएनडीपी के इंचार्ज डा केपी सिंह को मामले की जानकारी दी। जिसके बाद अधिकारियों ने आरोपियों की धरपकड़ के लिए जाल बिछाया। पानीपत का दलाल महिला को लेकर मूलचंद शर्बती देवी हाॅस्पिटल पहुंचा। यहां के कर्मचारी योगेश त्यागी के साथ दोनों आनंद अस्पताल के निकट पहुंचे। इस दौरान मेरठ और पानीपत की टीम उनका पीछा करती रहीं। आनंद अस्पताल के बाहर मनीष नाम का युवक तीनों को जाग्रति विहार सेक्टर पांच स्थित कृष्णा डायग्नोस्टिक सेंटर पर ले गया। वहां संचालक प्रदीप ने महिला से बातचीत करने के बाद उसे जाग्रति विहार सेक्टर पांच स्थित अपने घर भेज दिया। इसी बीच टीम ने डायग्नोस्टिक सेंटर पर छापा मार दिया। छापे के दौरान मनीष भाग खड़ा हुआ, जबकि योगेश त्यागी और सेंटर के संचालक संदीप को पुलिस ने दबोच लिया। आरोपियों से पूछताछ के बाद महिला को डायग्नोस्टिक सेंटर के संचालक के घर से बरामद कर लिया गया। पकड़े गए दलाल जयभगवान सहित तीनों आरोपियों को मेडिकल थाने लाया गया। जहां देर शाम तक आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही जारी थी।

1799 Total Views 2 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *