दुर्घटना में पॉलिटेक्निक के छात्र की मौत, जानिये साथियों ने दो बार क्यों लगाया जाम…

Polytechnic-students-killed-in-the-accident,-did-you-drink-twice-AP-colleagues

मेरठ : परतापुर थाना क्षेत्र के दिल्ली रोड स्थित डीएन पॉलिटेक्निक के सामने दुर्घटना में घायल हुए एक छात्र की मौत के बाद अन्य छात्रों ने कॉलेज के गेट के सामने दो बार सड़क पर जाम लगाते हुए जमकर हंगामा किया। छात्रों के समर्थन में पहुंचे एबीवीपी के नेताओं को पुलिस ने हंगामा भड़काने का आरोप लगाते हुए हिरासत में ले किया। इसके बाद बड़ी मुश्किल से छात्रों को समझाते हुए जाम खुलवाया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। उधर, हिरासत में लिए गए छात्रो को छोड़े जाने की मांग करते हुए मेयर हरिकांत अहलुवालिया और कैंट विधायक एसएसपी से मिले। एसएसपी ने छात्रों को छोड़ने का आश्वासन दिया है।

बताया जाता है कि मोदीनगर निवासी निशांत राठौर रिठानी स्थित डीएन पॉलिटेक्निक में इलेक्ट्रिकल सैकेंड इयर का छात्र था। सोमवार की सुबह कॉलेज के गेट पर सड़क पार करते हुए एक तेज गति से आ रही रोडवेज बस ने निशांत को कुचल दिया। हादसे में निशांत गंभीर रूप से घायल हो गया, उधर चालक बस सहित मौके से फरार हो गया। घटना के बाद गुस्साए पॉलिटेक्निक के छात्र-छात्राओं ने हंगामा करते हुए दिल्ली रोड पर जाम लगा दिया। छात्रों के समर्थन में एबीवीपी के कुछ छात्र नेता भी मौके पर पहुंच गए और हंगामा शुरू कर दिया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने छात्र-छात्राओं को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह मौके पर डीएम को बुलाने की मांग पर अड़ गए। पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए हंगामा भड़काने का आरोप लगाते हुए एबीवीपी के छात्रों को हिरासत में ले लिया। वहीं हंगामा कर रहे कॉलेज के छात्रों को समझाते हुए घायल छात्र को अस्पताल में भर्ती कराया। उधर, केएमसी अस्पताल में उपचार के दौरान छात्र की मौत हो गई, जिसके बाद भड़के छात्रों ने कॉलेज के भीतर और बाहर हंगामा करते हुए एक बार फिर सड़क पर जाम लगा दिया। छात्रों ने कॉलेज के सामने स्पीड बनवाए जाने की मांग की।

घटना के समय कॉलेज के प्राचार्य वीरेन्द्र आर्य कॉलेज के किसी आवश्यक काम से मुरादाबाद गए थे, मामले की जानकारी मिलते ही वह वापस लौट आए। उन्होंने छात्रों की मांग का समर्थन करते हुए शीघ्र ही इस मामले में प्रशासन को पत्र लिखकर स्पीड ब्रेकर बनवाए जाने की बात कही है। उन्होंने मृतक छात्र के परिवार के संवेदना व्यक्त करते हुए हादसे पर शोक प्रकट किया। उधर, घटना की जानकारी मिलने के बाद मृतक छात्र के परिवार में कोहराम मच गया, आनन-फानन में रोते बिलखते परिजन अस्पताल पहुंचे। पुलिस ने शव को पोेस्टमार्टम के लिए भेजते हुए चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। उधर, परतापुर पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गए एबीवीपी छात्र नेताओं को छोड़े जाने की मांग को लेकर मेयर हरिकांत अहलुवालिया और कैंट विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल एसएसपी जे रविन्द्र गौड़ से मिले। एसएसपी ने जांच के बाद छात्रों को छोड़े जाने का आश्वासन दिया है।

1245 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *