दिशा की बैठक कर सांसद डा. संजीव बालियान ने जानी जनपद के विकास की प्रगति

baliya-02

मेरठ : जनपद के पात्रों को योजनाओं का समय से लाभ दिलाने एवं विकास कार्यो का धरातल पर आंकलन करने के उद्देश्य से आज सांसद डा0 संजीव कुमार बालियान ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि वह राज्य एवं केन्द्र सरकार की योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु क्षेत्रों के जनप्रतिनिधियों का सहयोग अवश्य लें। उन्होंने जनपद में संचलित कुछ योजनाओं की जानकारी से जनप्रतिनिधियों अवगत न कराने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा कहा कि जनप्रतिनिधि सदैव अपने क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करता है तथा वह अपने क्षेत्र की सभी आवश्यकताओं को भली प्रकार जानता है इसलिए विभागीय अधिकारी किसी भी योजना के बनाने से पहले वह जनप्रतिनधियों का परामर्श अवश्य लें।

सांसद डा0 संजीव कुमार बालियान ने विकास भवन सभागार में जिला स्तर पर गठित जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति (दिशा) की बैठक की अध्यक्षता करते हुए उक्त निर्देश दिये। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जिलों के प्रभावी एवं समयबद्ध विकास के लिये सांसद, राज्य विधान मंडलों और स्थानीय सरकारों(पंचायती राज संस्थाओं/नगर पालिका निकायों) के निर्वाचित प्रतिनिधियों के बीच बेहतर समन्वय सुनिश्चित करने हेतु जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति (दिशा) गठित की गयी है।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए डा0 संजीव कुमार बालियान ने अधिकारियों से सरकार के संकल्प पत्र के अनुरूप कार्य करने, जनता की समस्याओं का प्राथमिकता पर निस्तारण करने,ईमानदारी व पारदर्शी ढंग से कार्य करने, युवकों को प्रशिक्षित कर स्वरोजगार व रोजगार उपलब्ध कराने, ग्राम सभा की खुली बैठके कराने, योजनाओं की समयबद्ध सूचना हेतु जनप्रतिनिधियों एवं प्रधानों का व्हाटस ऐप ग्रुप बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने दिव्यांगों को सहायक उपकरण प्रदान करने हेतु उनके चिन्हांकन का कार्य शुरूकर उसका व्यापक प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिये।

श्री बालियान ने पं0 दीन दयल राष्ट्रीय आजीविका मिशन योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि अधिकारी जनपद में संचालित 1539 महिला स्वंय सहायता समूहों के कार्यो का मौके पर जाकर निरीक्षण करें तथा उनके साथ बैठक कर उनके उत्पादों को और अधिक बेहतर बनाने तथा मार्केट में बेचने हेतु मागदर्शन प्रदान करें। उन्होनंे पं0 दीन दयाल ग्रामीण कौशल विकास के कार्या की समीक्षा करते हुए पाया कि योजनान्तर्गत 500 के लक्ष्य के सापेक्ष 75 युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने इसमें प्रशिक्षुओं की संख्या बढाने हेतु जागरूकता कार्यक्रम चलाने तथा बेरोजगार एवं गरीब युवाओं को इससे आच्छादित करने के निर्देश दिये। बैठक में सांसद ने पाया कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत 08 सड़कों का कार्य मार्च 2018 तक पूर्ण हो जाएगा। उन्होंने कहा कि सड़कों को गुणवत्ता एवं मानकों के अनुरूप बनाने तथा मार्गो में जहां गडडे हो उनके समय से भरने के निर्देश दिये।

स्वच्छ भारत मिशन कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए पाया कि नगर निगम द्वारा 90 वार्डो के सापेक्ष 25 वार्ड ओडीएफ किये गये है तथा शेष 65 वार्डो को जून 2018 तक पूर्ण करा लिया जाएगा। उन्होनंे जानकारी देते हुए बताया कि शहरों एवं ग्रामों के पेट्रोल पम्पों के शौचालय को सार्वजनिक शौचालय घोषित किया गया है। उन्होंने जनपद ग्रामों के ओडीएफ कार्यक्रम की सफलता पर संतोष व्यक्त किया।
सांसद ने राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम के अन्तर्गत पाईप्ड पेयजल योजना का ग्रामांे में लाभ सुनिश्चित कराने तथ जहां लाइने तो बिछाई गयी है किन्तु किन्ही समस्या से पानी नहीं जा रहा है ते समस्या का समधान करने के निर्देश दिये। उन्होंने नगर निगम क्षेत्रों में खराब पड़ें हैण्डपम्पों को ठीक कराकर आमजन के लिए चालू कराने के निर्देश दिये। उन्होंने ग्राम पंचायत स्तर पर बनी स्वच्छता एवं पेयजल समिति को क्रियाशील करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने दौराला क्षेत्र में हैण्डपम्प से दूषित पानी आने की समस्या पर जल निगम के अधिकारियों को पानी की जाच कर समस्या का समधान करने के निर्देश दिये।

सर्व शिक्षा अभियान की समीक्षा के दौरान शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि छात्रों को ड्रेस, पुस्तके, जूते, मौजे, आदि का वितरण समय से
कर दिया गया है तथा स्कूलों में मिलने वाला मध्याहन भोजन भी गुणवत्ता के साथ छात्रों को उपलबध कराया जा रहा है। सांसद ने प्राईवेट स्कूलों में गरीब छात्रों के कोटे से मिलने वाले गरीब छात्रों का प्राईवेट स्कूलों में दाखिला कराने के निर्देश दिये तथा कहा कि इसका अधिकाधिक प्रचार प्रसार करायें ताकि अभिभावक अपने बच्चों का प्राईवेट स्कूल में दाखिला करा सके। उन्होंने अल्पसंख्यकों के छात्रों को मिलने वाली छात्रवृत्ति में हो रही गड़बड़ी की शिकायत पर उन्होंने जांच कर दोषियों के विरूद्ध कार्रवाई करने के निर्देश दिये।

बैठक में सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वह शासन की मंशा के अनुरूप कार्य करें और संचालित योजनाओं से जनपद को आच्छादित करें। उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों से कहा कि वह शासन द्वारा निर्धारित मानकों के अनुरूप जनपद में विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि खराब ट्रांसफार्मरों के प्रतिस्थपान कार्य में तेजी लाने व बल्लियों पर विद्युत सप्लाई न देने तथा घनी आबादी वाले क्षेत्रों में अंडर ग्राउंड विद्युत आपूर्ति कराने के निर्देश दिये। उन्होंने विद्युत विभाग की सौभाग्य योजनान्र्तगत अधिकाधिक विद्युत कनेक्शन प्रदान करने के निर्देश दिये।

सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि राष्ट्रीय अंधता निवारण कार्यक्रम मंे बढे अस्पतालों को कैम्प लगाने की अनुमति स्वास्थ्य विभाग प्रदान करें। उन्होंने अंधता निवारण कार्यक्रम के अन्तर्गत उपलब्ध डाटा को उनको भेजने के लिये निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि सरकारी एम्बुलेंस सेवा द्वारा प्राईवेट अस्पतालों के कार्य न किये जाए इसको स्वास्थ्य विभाग सुनिश्चित करें तथा दोषियों को दण्डित करें।

सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने उज्जवला योजना की समीक्षा के दौरान आपूर्ति विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि यह योजना मा0 प्रधानमंत्री की प्राथमिकता वाली योजना में से एक है इसलिए वह इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरते तथा पात्रों को अधिकाधिक इस योजना का लाभ प्रदान करें।

जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने बताया कि डिजीटल भारत भूअभिलेख आधुनिकरण कार्यक्रम के अन्तर्गत 712 ग्रामों के डिजीटलाइजेशन का कार्य किया गया है तथा 27 हजार खतौनी आॅनलाइन किसानों को दी गयी है। उन्होंने बताया कि चल वित्तीय वर्ष 2017-18 में राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन के अन्र्तगत 24085 को प्रथम किश्त में , 23954 को द्वितीय किश्त के रूप में तथा 24371 लाभार्थियों को तृतीय किश्त का भुगतान किया चुका है। उन्होंने जनप्रतिनिधियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उनके द्वारा दिये गये निर्देशों का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा।

इस अवसर पर राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम, स्वच्छ भारत मिशन, प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना, आईडब्ल्यू एमपी, राष्ट्रीय भूअभिलेख आधुनिकीकरण कार्यक्रम स्मार्ट सिटी येाजना, उदय योजना राष्ट्रीय स्वास्टय मिशन, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, सर्व शिक्षा अभियान, मध्याहन भोजन, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना व डिजीटल इण्डिया आदि योजनाओं पर विस्तार से चर्चा हुई एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये।

बैठक का संचालन एवं विभागवार तथ्यों का प्रस्तुतिकरण मुख्य विकास अधिकारी आर्यका अखौरी ने किया तथा अंत में सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस अवसर पर विधायक मेरठ दक्षिण सोमेन्द्र तोमर, जिला पंचायत अध्यक्ष कुलविन्द्र सिंह, सांसद प्रतिनिधि हर्ष गोयल, समिति के सदस्य डा0 मधुवत्स, डा0 अशोक अग्रवाल ब्लाॅक प्रमुख दौराला सचिन अहलावत, सहित मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 राज कुमार, नगर आयुक्त मनोज सिंह चैहान, अपर जिलाधिकारी प्रशासन एस0पी0 पटेल, जिला विकास अधिकारी अतुल मिश्रा, परियोजना निदेशक भानू प्रताप सिंह, डीपीआरओ आलोक शर्मा, सहित विद्युत, सिंचाई नगर निकायों, कृषि, पशु पालन सहित अन्य अधिकारीगण एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।

116 Total Views 2 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *