अधिकारियों से शिकायत करने जा रहे अनुसूचित जाति के ग्रामीणों को राजपूतों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

Rajputs beaten and beaten

मेरठ : सरधना के कपसाड़ गांव मंे राजपूत जाति की बच्ची के साथ अनूसूचित जाति के युवक द्वारा किए गए दुष्कर्म के प्रयास के बाद गांव मंे बवाल मचा है। घटना के विरोध में देर रात राजपूतों के हमले का शिकार हुए अनुसूचित जाति ग्रामीण ब्रहस्पतिवार को आलाधिकारियों से गुहार लगाने के लिए घर से निकले। आरोप है कि इस दौरान राजपूतों ने फिर से उन पर हमला बोल दिया। घटना के बाद एसपी देहात कई थानों की फोर्स के साथ गांव में डटे हुए हैं।
बताते चलें कि गांव में बुधवार को अनुसूचित जाति के युवक ने राजपूत जाति की पांच वर्षीय बच्ची के साथ खेत में दुष्कर्म का प्रयास किया था। जिसके बाद राजपूतों ने देर रात आरोपी की बस्ती पर हमला बोलते हुए अनुसूचित जाति के ग्रामीणों के घरों में तोड़फोड़ करते हुए कई लोगों को जमकर पीटा था। जिसके बाद गांव मंे फोर्स तैनात कर दी गई थी। बताया जाता है थाना स्तर पर सुनवाई न होने पर ब्रहस्पतिवार को अनुसूचित जाति के दर्जनों ग्रामीण टैªक्टर ट्रालियों में बैठकर अधिकारियों से शिकायत करने मेरठ जा रहे थे। आरोप है इसी दौरान राजपूतों ने उन पर फिर से हमला बोल दिया और उन्हें सड़क पर दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। उधर, गांव में अपनी भाभी पूनम के साथ खेत से चारा लेकर लौट रहे अनुसूचित जाति के विकास पुत्र जयपाल भी हमला बोलते हुए राजपूतों ने उसका सिर फाड़ डाला। आलम यह हुआ कि दहशत में आए अनुसूचित जाति के लोग घरों में कैद हो गए। घटना के बाद गांव मंे तनाव है। वहीं, अधिकारियों में हड़कंप मचा है। एसपी देहात राजेश कुमार पीएसी और कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। दोपहर बाद तक अधिकारी हालात को काबू करने के प्रयास में जुटे थे।

484 Total Views 10 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *