आयुक्त ने की मण्डलीय कानून एवं शान्ति व्यवस्था की समीक्षा

comessnor

मेरठ : आयुक्त सभागार में कानून एवं शान्ति व्यवस्था की मण्डलीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए आयुक्त डा0 प्रभात कुमार ने अपराध व अपराधियों पर जीरो टाॅलरेन्स पर कार्यवाही करने, भ्रष्टाचारियों को जेल भेजने, गैंगस्टर एक्ट में निरूद्ध अपराधियों की सम्पत्ति जब्त करने, आबकारी में प्रभावी कार्यवाही करने, हर्ष फायरिंग करने पर शस्त्रों का लाईसेंस निरस्त करने, असली भू-माफियाओं को चिन्हित कर कार्यवाही करने व निर्भिकता, निडरता व तत्परता से कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया। आयुक्त ने मण्डल में बढती आपराधिक घटनाओं पर अपनी नाराजगी व्यक्त की व महिला अपराधों पर सख्त कार्यवाही करने को कहा।

आयुक्त ने कहा कि कानून व्यवस्था प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में है। उन्होंने कुख्यात अपराधियों गिरफ््तारी की कार्यवाही में बढोत्तरी करने, जघन्य अपराधों में कितने अपराध हुए व कितने अपराधी चिन्हित हुए व उनमें से कितनो को गिरफ््तार किया गया इसकी आख्या देने के लिए पुलिस अधिकारियांे को निर्देशित किया।

आयुक्त ने अपहरण की तुल्नात्मक स्थिति की समीक्षा करते हुए कितनी महिलाओं व कितने पुरूषों का अपरहण हुआ उसकी अलग अलग सूचना देने व उसपर क्या प्रभावी कार्यवाही की गयी इसकी सूचना देने के लिए निर्देशित किया। उन्होने कहा कि पुलिस अधिकारी अपराधों का विश्लेषण करें व प्रो-एक्टिव होकर कार्य करें।

आयुक्त ने कहा कि अधिकारी गरीब आदमी की प्रति सहानुभूति रखें व गुणवत्तापरक ढंग से कार्यवाही करें। उन्होंने मण्डल में कितने अपराधियों को जिला बदर किया गया है व उनमे से जिन अपराधियों को पुनः जनपद में देखा गया है उनके विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की गयी या नहीं इसकी आख्या देने के लिए पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया।

आयुक्त ने कहा कि विवाह समारोह के दौरान हर्ष फायरिंग होने पर शस्त्र का लाईसेंस निरस्त किया जाए तथा फार्म हाउस या मण्डपों के बुकिंगकर्ता से हर्ष फायरिंग न करने के सम्बंध में अंडरटेकिंग ली जाए। उन्होंने गुण्डा अधिनियम के अन्तर्गत कितने वाद जिलाधिकारी के यहा भेजे गये व कितनों मे अपील हुई तथा कितनों में कार्यवाही हुइ इसकी आख्या देने के लिए निर्र्देशित किया।

आयुक्त ने थाना दिवस की प्रासंगिकता को बरकरार रखने के लिए निर्देशित किया तथा तहसील दिवस में आये प्रकरणों में से थाना दिवसों से सम्बधित प्रकरणों को हस्तांतरित करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने थानादिवसों पर आ रही कम शिकायतों पर अपनी चिंता व्यक्त कर थाना दिवस की सतत समीक्षा कर उसको सफल बनाने के लिए निर्देशित किया।

उन्होंने ंएंटी भू-माफिया टास्क फोर्स की समीक्षा करते हुए कहा कि अधिकारी असली भू-माफियाओं को चिन्हत करें तथा भूमि पर कब्जा करने व करवाने वालों पर भी प्रभावी कार्यवाही करंे क्योंकि दोनो ही भूमफिया माने जायेंगे। आयुक्त ने थानादिवस पर निस्तारित सन्दर्भो की गुणवत्ता के परीक्षण पर अपना असतोष व्यक्त किया तथा महिला अपराधों पर सख्त कार्यवाही करने को कहा।

अपर आयुक्त आर0एन0 धामा ने मण्डलीय अपराध समीक्षा पर प्रकाश डालते हुए बताय ा कि 01 अप्रैल 2017 से 30 सितम्बर 2017 तक घटित घटनाओं में गत वर्ष की इसी अवधि के सापेक्ष मेरठ में डकैैती, लूट, अपहरण, बलात्कार, चेन स्नेच्ंिाग व शील भंग की घटनाओं में व बुलन्दशहर में हत्या की घटनाओं में व गौतमबुद्ध नगर में वाहन चोरी की घटनाओं में बढोत्तरी हुई है।

अपर आयुक्त ने बताया कि 01 अप्रैल 2017 से 30 सितम्बर 2017 तक की अवधि में मण्डल में कुल 21037 अपराध घटित हुए जबकि इसी अवधि में वर्ष 2016 में 19549 अपराध घटित हुए। उन्होंने बताया कि मण्डल में 01 अप्रैल 2017 से 30 सितम्बर 2017 तक की अवधि में 1292 अपराधियों को गुण्डा एक्ट में 223 अपराधियों को गैंगस्टर एक्ट में व एक को रासुका में निरूद्ध किया गया है। उन्होंने बताया कि वांछित अपराधियों व पुरूस्कार घोषित अपराधियों के विरूद्ध कार्यवाही में जनपद मेरठ की प्रगति असंतोषजनक है।

इस अवसर पर आईजी राम कुमार, डीएम गाजियाबाद रितु माहेश्वरी, गौतमबंुद्ध नगर बीएन सिंह, बुलन्दशहर रोशन जैकब, हापुड़ कृष्ण करूणेश, एसएसपी मेरठ मंजिल सैनी, गौतमबुद्ध नगर लव कुमार, गाजियाबाद एचएन सिंह, बुलन्दशहर मुनीराज, हापुड़ हेमन्त कुटियाल आदि अधिकारी उपस्थित रहे।

117 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *