शौचालयों निर्माण में धांधली करने वाले होंगे दंडित : डीएम

Rioters-will-be-punished-for-construction-of-toilets

मेरठ : जिलाधिकारी बी चन्द्रकला ने कहा कि स्वेच्छाग्रही की टीम, ट्रिगरिंग टीम, मिस्त्री, फंड आदि को ध्यान में रखकर माइक्रोप्लानिग के तहत जनपद में कार्य कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कार्यो का बेस लाइन करेक्शन किया जा रहा है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि किसी अपात्र को योजना का लाभ न मिल सके। उन्होंने बताया कि जनपद मेरठ के 30 हजार शौचालयों के लक्ष्यों के सापेक्ष 36371 शौचालय अब तक बनाये जा चुके है तथा 3157 निर्माणाधीन है। आयुक्त आलोक सिन्हा ने बताया कि 31 दिसम्बर 2017 तक प्रदेश के जिन जनपदों को ओडीएफ घोषित किया जाना है उसमें मण्डल के मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, हापुड़, बागपत, जनपद है। उन्होंने कहा कि बागपत को छोड़कर शेष में यह कार्य पूर्ण करा लिया जाएगा बागपत में थोड़ा और समय लगेगा। उन्होंने कहा कि जनपद मेरठ के 109 व मंडल के 259 ग्राम पंचायतों को ओडीएफ घोषित किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि मण्डल में 84848 लक्ष्यों के सापेक्ष 81340 शौचालय बनाये जा चके है। इस अवसर पर संयुक्त विकास आयुक्त एबी मिश्रा, मुख्य विकास अधिकारी हर्षिता माथुर, उपनिदेशक पंचायती राज प्रवीना चौधरी, जिला पंचायत राज अधिकारी अनिल कुमार सिंह सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

909 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *