विश्वविद्यालय की शोध छात्रा ने चीफ वार्डन से जताया जान का खतरा

student

मेरठ : चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय की शोध छात्रा ने हाॅस्टल के चीफ वार्डन से जान का खतरा जताते हुए कमिश्नर सहित शासन व प्रशासन से गुहार लगाई है।
मूल रूप से इलाहबाद निवासी शोध छात्रा बुधवार को कमिश्नरी पहुंची। उसने बताया कि वह विवि के समाजशास्त्र विभाग से पीएचडी कर रही है और विवि परिसर स्थित एक छात्रावास में रह रही है। छात्रा के अनुसार उसने कुलपति और कुलसचिव के आदेश पर छात्रावास में एक काॅ-आपरेटिव मैस चलाया था। आरोप है कि अपनी कमीशनखोरी बंद होने के कारण ठेकेदार की मैस की वार्डन और चीफ वार्डन उस पर मैस बंद करने का दबाव बनाते रहे। इस संबंध में उसने कई बार विवि प्रबंधन और अन्य अधिकारियों से शिकायत की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। छात्रा ने आरोप लगाया कि चीफ वार्डन उसका पीएचडी का रजिस्ट्रेशन रद्द कराने की धमकी दे रहा है, इसी के साथ उसके छात्रावास के कमरे का पुनः आवंटन रोक दिया गया है। वहीं चीफ वार्डन उससे कई अनैतिक मांग भी कर रहा है, जिसकी शिकायत करने पर वार्डन भी उस पर चीफ वार्डन की बात मानने का दबाव बना रही है। उसने कमिश्नर के नाम सौंपे प्रार्थनापत्र में विवि परिसर में अपने साथ होने वाली किसी भी घटना के लिए विवि प्रबंधन को जिम्मेदार ठहराते हुए चीफ वार्डन को हटाए जाने की मांग की।

136 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *