सट्टे की उधारी चुकाने को लुटवा दिया बहन का घर

So-will-not-this-time-be-the-festival-of-Nauchandi

मेरठ : नौंचदी थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर में आवास विकास के अधिशासी अभियंता के घर हुई लूट का खुलासा करते हुए पुलिस ने अधिशासी अभियंता के रिश्ते साले सहित दो को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से पुलिस ने लूटे गए लाखों के जेवरात बरामद किए हैं। पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने सट्टे की उधारी चुकाने के लिए एक्सईएन के घर को निशाना बनाया था। आरोपियों का एक साथी फरार है, जिसकी तलाश जारी है।

बताते चलें कि बीती 6 मार्च को आवास विकास के अधिशासी अभियंता प्रमोद कुमार के घर पर उनकी अकेली पत्नी को बंधक बनाकर दो बदमाशों ने लाखों के जेवरात और नकदी लूट ली थी। इस मामले में पुलिस और क्राइम ब्रांच जांच में जुटी थी। सोमवार को रिजर्व पुलिस लाइन में पत्रकारों से वार्ता करते हुए एसएसपी जे रविन्द्र गौड़ ने एक्सईएन प्रमोद कुमार के घर पर हुई लूट का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि घटना के मास्टर माइंड 386/ 2 शास्त्रीनगर निवासी गोलू उर्फ सोनू पुत्र कपिल और उसके साथी सौरव पुत्र सत्यपाल निवासी गोल मंदिर शास्त्रीनगर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से पुलिस को स्कूटी संख्या यूपी-15-बीएच 5434 सहित लूटी गई सोने-चांदी और डायमंड की ज्वैलरी बरामद हुई है। पूछताछ के दौरान बदमाशों ने बताया कि गोलू की बनाई गई योजना पर वारदात को सौरव और उसके साथी शंकर पुत्र कुंवरपाल निवासी 208 जयदेवी नगर ने अंजाम दिया था। बदमाशों ने लूटी गई 81 हजार की नकदी में से आपस में 27-27 हजार की रकम का बंटवारा कर लिया। सोने के दो कड़े मालीवाड़ा कोतवाली निवासी मयंक पुत्र रामकिशोर को 34 हजार में बेच कर यह रकम भी आपस में बांट ली। बाकी की ज्वैलरी आरोपियों से बरामद कर ली गई है। फरार चल रहे शंकर की तलाश में दबिश दी जा रही हैं।

सट्टे के शौक ने बना दिया लुटेरा
लुटेरों से पूछताछ करने पर उन्होंने बड़ी बेबाकी से लूट की पूरी घटना की स्वीकारोक्ति की की। उन्होंने बताया कि वह लोग सट्टे के शौकीन थे। सौरव और गोलू सट्टे में काफी रकम हार चुके थे और कर्जदार भी हो चुके थे। गोलू ने सौरव को बताया कि उसका रिश्ते का जीता प्रमोद काफी मालदार है और उसके घर से लूट करने से उनकी सारी परेशानी हल हो जाएगी। जिसके बाद उन्होंने जयदेवी नगर निवासी शंकर को भी योजना में शामिल किया और वारदात को अंजाम दे डाला।

शुरू से संदिग्ध था गोलू, मेरठ ग्लोब न्यूज ने दिए थे संकेत
घटना के पहले दिन से ही गोलू का संदिग्ध रवैया उसके लूट में शामिल होने की ओर इशारा कर रहा था। मेरठ ग्लोब न्यूज ने भी अपने समाचार में ढके-छिपे शब्दों में घटना के पीछे किसी करीबी और सटीक मुखबिरी की ओर इशारा किया था। दरअसल, घटना के दिन गोलू एक्सईएन के घर पर सुबह से ही डेरा डाले था, लेकिन घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस और मीडिया के सामने आने से बचने का प्रयास कर रहा था। जबकि ऐसे हालात में परिजन अपनों कों सांत्वना देते हुए उनके आसपास ही रहने का प्रयास करते हैं।

1974 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *