आवारा पशुओं को कलेक्ट्रेट में बांधने पहुंचे सपा नेता, हंगामे की आशंका के चलते छावनी में तब्दील रहा जिला मुख्यालय

SP leader who came to build the stray cattle in the collectorate

मेरठ : प्रदेश की योगी सरकार को हर मोर्चे पर फेल बताते हुए समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इसी के तहत आज वरिष्ठ सपा नेता अतुल प्रधान के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट पहुंचे। सपा नेताओं ने कलेक्ट्रेट परिसर में आवारा पशुओं को बांधने का प्रयास किया तो उनकी पुलिस से तीखी नोकझोंक हुई। काफी देर चले हंगामे के बाद सपा कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन में प्रदेश सरकार से इस्तीफे की मांग की।
बताते चलें कि कुछ दिन पूर्व समाजवादी पार्टी के नेताओं ने शहर और गांव में घूमने वाले आवारा पशुओं को लेकर अपना विरोध प्रकट किया था। सपा नेताओं का आरोप है की गांवों में विचरने वाले आवारा पशुओं के कारण जहां किसानों की फसल बर्बाद हो रही है। वहीं दूसरी ओर शहर की सड़कों पर छुट्टे घूमते आवारा पशुओं की दहशत के चलते लोगों का सड़क पर निकलना मुहाल हो गया है। सपा नेताओं ने आवारा पशुओं को पकड़े ने जाने पर जनवरी माह के पहले सप्ताह में जिले के सभी सरकारी स्कूलों और कार्यालयों में आवारा पशुओं को बांध देने की चेतावनी दी थी। जिसके चलते बुधवार को सपा नेता अतुल प्रधान के साथ सैकड़ों कार्यकर्ता सड़क पर घूमने वाले आवारा सांडों को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे। उधर सपाइयों के कार्यक्रम की जानकारी के चलते एसपी सिटी रणविजय सिंह सहित कई थानों की फोर्स ने कलेक्ट्रेट को छावनी में तब्दील कर दिया था। सपा नेताओं के कलेक्ट्रेट पहुंचते ही पुलिस ने उनकी घेराबंदी शुरू कर दी। जिस पर सपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान सपा नेताओं की पुलिस से तीखी नोकझोंक हुई। एक बार को हालात उग्र भी होते नजर आए। काफी देर चले हंगामे के बाद सपा नेताओं ने राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में प्रदेश की भाजपा सरकार को हर मोर्चे पर फेल बताते हुए समाजवादी पार्टी के नेताओं ने प्रदेश सरकार से इस्तीफे की मांग की

117 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *