एसएसपी ने भंग की क्राइम ब्रांच, इंस्पेक्टर सहित 12 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

Mother-son-murderer

मेरठ : परतापुर के दोहरे हत्याकांड में दोनों आरोपियों को पकड़ने में नाकाम साबित हुए क्राइम ब्रांच पर एसएसपी की गाज गिर गई। कप्तान ने क्राइम ब्रांच को भंग करते हुए इंस्पेक्टर सहित 12 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया है।
बुधवार की दोपहर एसएसपी मंजिल सैनी दहल ने एकाएक आदेश जारी करते हुए जिले की क्राइम ब्रांच को भंग कर दिया। उन्होंने क्राइम ब्रांच के प्रभारी इंस्पेक्टर राजेश वर्मा और दरोगा जयवीर सहित क्राइम ब्रांच में तैनात सभी 12 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर करने का आदेश जारी किया है। कप्तान के आदेश के बाद क्राइम ब्रांच में तैनात पुलिसकर्मियों में हड़कंप मचा है। सूत्रों की मानें तो परतापुर के सोरखा गांव में गवाह मां-बेटे निछत्तर कौर और बलविंद्र की हत्या के बाद आरोपियों की तलाश में क्राइम ब्रांच पूरी तरह से फेल्योर साबित हुई। वारदात में शामिल पचास हजार का इनामी मुख्य आरोपी विनय उर्फ मांगे दिल्ली पुलिस से साठगांठ कर जेल चला गया। वहीं, दूसरे पचास हजारी विकास जाट को मंगलवार को मुजफ्फरनगर पुलिस ने मार गिराया। हाथ से छिटकते अपराधियों और अवैध वसूली की शिकायतों के चलते क्राइम ब्रांच पर गाज गिरने की बात कही जा रही है।

125 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *