एक जनपद एक उत्पाद योजना का सफलता पूर्वक कार्यक्रम सम्पन्न

unnamed

मेरठ : प्रदेष सरकार की महत्वाकांक्षी एक जनपद एक उत्पाद योजनान्तर्गत पांच वर्शो में 25 लाख रोजगार सृजन होंगें, 4095 लाभार्थियों को 1006 करोड रुपये के ऋण वितरित हुए जिसमें से मेरठ के 150 लाभार्भियों को 102 करोड रुपये के ऋण दिए जाएगें, 2 करोड परिवार लाभान्वित होगें व एक लाख करोड का निवेष होगा। उत्तर प्रदेष अब थींक ग्लोबल, एक्ट ग्लोबल की तर्ज पर चल पडा है। लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम का मा0 राश्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दीप प्रज्जवलित कर षुभारम्भ किया।वही लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम का बचत भवन में सजीव प्रसारण किया गया,जिसे उद्यमियों,मा0 विधायकगण व अधिकारीगणों ने देखा।इस अवसर पर जनपद के 30 उद्यमियों को सम्मानित किया गया व 10 को ऋण वितरण के स्वीकृति पत्र व चैक प्रदान किए गये।
इस अवसर पर एक जनपद एक उत्पाद की वैबसाईट व टोल फ्री नम्बर-18001800888 का षुभारम्भ मा0 राश्ट्रपति द्वारा किया गया । एक जनपद एक उत्पाद योजनान्तर्गत जनपद मेरठ के लिए स्र्पोट्स उद्योग को चुना गया है । इन्वस्टर्स समीट के दौरान 684 करोड रुपये के प्रस्ताव आये । वर्तमान में 500 करोड रुपये की स्र्पोट्स उद्योग संचालित है,जिसमें करीब एक हजार यूनिट है,जिसमें ढाई लाख लोग कार्यरत है ।
मा0 राश्ट्रपति भारत सरकार ने रामनाथ कोविंद ने अपने उद्बोद्यन में कहा कि उत्तर प्रदेष के विकास की कल्पना किए बने भारत के विकास की कल्पना करना बेईमानी होगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेष एक उत्तम प्रदेष है तथा इसके खोज की आवष्यकता है,जिसने इसे खोज लेगा उसे पता चलेगा कि उत्तर प्रदेष कितना समृद्वषाली प्रदेष है। उन्होने कहा कि उ0प्र0 में प्रतिभाओं एवं संसाधनों की कमी नही है ।
उन्होंने कहा कि अब तक 45 भारत रत्न दिए गए है उनमे से 11 विभूतियों का जन्म व कर्मस्थली उत्तर प्रदेष रहा है तथा कई प्रधानमंत्री का जन्म व कर्मस्थल उत्तर प्रदेष रहा है । उन्होंने सुझाव दिया कि आगामी कुम्भ मेले में एक जनपद एक उत्पाद के सभी उत्पादों की प्रदर्षनी भी लगाई जाए । उन्होंने कहा कि अब उ0प्र0 थींक ग्लोबल एक्ट ग्लोबल की तर्ज पर चल पडा है ।
मा0 राज्यपाल उत्तर प्रदेष रामनाईक ने कहा कि प्रदेष का मुख्य उद्यम कृशि है,लेकिन अन्य उद्योगों के तीब्र व सुदृढ विकास की आवष्यकता है,इसलिए इन्वस्टर्स का आयोजन व एक जनपद एक उत्पाद योजना उत्तर प्रदेष सरकार द्वारा षुरु की गई है ताकि अन्य उद्योगों को भी बढावा दिया जा सकें । उन्होंने बताया कि 15 लाख छात्र-छात्राओं को डिग्री दी गई है उनके रोजगार की व्यवस्था उत्तर प्रदेष में ही हो सकें इसके लिए प्रयास किए जा रहे है । उन्होंने बताया कि मात्र 3 देष अमरिका,चाईना व इन्डोनेषिया की जनसंख्या उत्तर प्रदेष से अधिक है उत्तर प्रदेष को उसी अनुपात में विकास की आवष्यकता है ।
मा0 मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेष सरकार योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वह जापान व थाईलैण्ड गए और वहां की व्यवस्थाओं को देखा तथा कम समय में सभी क्षेत्रों में विकास की परिकल्पना को मूर्तरुप देने के उद्देष्य से एक जनपद एक उत्पाद योजना लागू की गई है,जिसमें 5 लाख प्रतिवर्श व 5 वर्शो में 25 लाख रोजगार का सृजन होगा तथा 4095 लाभार्थियों को 1006 करोड रुपये के ऋण दिए गए है ताकि परम्परागत उद्योगों को बढावा दिया जा सकें ।
उन्होंने बताया कि गत दिनों आहूत इन्वस्टर्स समीट 4-68 लाख करोड के एम0ओ0यू0 किए गए ,जिनमें से 60 हजार करोड रुपये की 81 परियोजनाओं का षिलान्यास मा0 प्रधानमंत्री द्वारा किया गया । उन्होंने बताया कि 50 हजार करोड रुपये की परियोजनाओं के षिलान्यास का कार्यक्रम षीघ्र आयोजित किए जाने पर कार्य चल रहा है । उन्होंने बताया कि हमारी सरकार ने उत्तर प्रदेष में पहली बार 24 जनवरी 2018 को उत्तर प्रदेष स्थापना दिवस का आयोजन किया । उन्होंने बताया कि प्रदेष सरकार द्वारा विष्वकर्मा श्रम सम्मान योजना प्रारम्भ करने का निर्णय लिया गया है,जिसमें ग्रामों तक के श्रमिकों को जोडकर उन्हें लाभ पहुॅचाया जाएगा।
आयुक्त अनिता सी मेश्राम ने कहा कि उद्यमियों की समस्याओं का प्राथमिकता पर निस्तारण किया जाएगा तथा उनको सुविधायें उपलब्ध कर उद्योगों को बढावा दिया जाएगा । उन्होंने बताया कि मेरठ में स्र्पोट्स कालिज व लैब स्थापना के प्रयास किए जा रहे है ,जिसके लिए 50 एकड भूमि की आवष्यकता है ।
जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने कहा कि जिला उद्योग बन्धु की नियमित बैठक कर उद्यमियों की समस्याओं से अवगत होकर उनका प्राथमिकता पर निस्तारण कराया जा रहा है ।
कलेक्टेªट परिसर में स्र्पोट्स उद्योग की लिटेक्स स्र्पोट्स व कोकस्टोन उद्योग ने अपने स्टाॅल भी लगाये गए । इस अवसर पर लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री केषव प्रसाद मौर्य,लघु उद्योग मंत्री सत्यदेव पचैरी,अन्य मंत्रीगण, मुख्य सचिव उत्तर प्रदेष षासन,मेरठ मे आयोजित कार्यक्रम में मा0 विधायक सत्यप्रकाष अग्रवाल,रफीक अंसारी,मुख्य विकास अधिकारी आर्यका अखौरी,सहायक आयुक्त उद्योग षैलेन्द्र सिंह, उद्यमी प्रतिनिधि अतुल भूशण गुप्ता,डी0एस0जैन,एम0एस0 जैन,गिरीष मोहन गुप्ता,राकेष रस्तौगी,अषवनी गेरा,आदि उद्यमी व अधिकारीगण उपस्थित रहें ।

99 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *