14 वर्ष की किशोरी थाने पहुंचकर बोली नहीं जाना घर, फिर घरवालों ने किया ऐसा…

The-14-year-old-Kishori-police-station

मेरठ : अभी ब्रहमपुरी थाने के दरोगा द्वारा एक किशोरी से होटल में दुष्कर्म का मामला ठंडा नहीं हुआ कि लालकुर्ती पुलिस पर भी अपहृत किशोरी की बरामदगी में खेल करने का आरोप लगाते हुए परिजनों ने जमकर हंगामा किया। हालांकि पुलिस आरोपों से इंकार कर रही है। किशोरी को फिलहाल मेडिकल के लिए भेज दिया गया है।

दरअसल, लालकुर्ती निवासी एक व्यक्ति कैंट स्थित एक स्कूल में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी है। उसकी 14 वर्षीया पुत्री एक स्कूल में नौवीं की छात्रा है। परिजनों का आरोप है कि बीती 15 मार्च को किशोरी के ट्यूशन जाते समय क्षेत्र के रहने वाले अक्षय ने अपने भाई वासू और नीशू व चाचा सतेन्द्र और मां के साथ उनकी पुत्री का अपहरण कर लिया। इस मामले में सभी आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराते हुए एसएसपी से भी किशोरी की बरामदगी की गुहार लगाई गई थी। आरोप है कि दबाव बनता देख देर रात लालकुर्ती पुलिस किशोरी को तो बरामद कर लाई, लेकिन आरोपी को मौके से भगा दिया। शुक्रवार की सुबह थाना पुलिस ने किशोरी के परिजनों को काॅल करके उसके बरामद होने की सूचना दी, जिसके बाद थाने पर परिजनों और क्षेत्रवासियों की भीड़ लग गई। परिजनों का आरोप है लाख पूछने के बाद भी थाने पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने न तो उन्हें यह बताया कि किशोरी को कब और कहां से बरामद किया गया और न ही किसी आरोपी को गिरफ्तार किया। उल्टा किशोरी से भी उसके परिजनों की बात नहीं कराई। जिसके बाद परिजनों का गुस्सा भड़क उठा और उन्होंने थाने पर हंगामा शुरू कर दिया। परिजनों ने आरोप लगाया कि पुलिस ने आरोपियों से साठगांठ करके उन्हें छोड़ दिया और किशोरी को बरगलाया जा रहा है। हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने किशोरी को मेडिकल के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। सवाल यह उठता है कि अगर पुलिस ने किशोरी को बरामद किया था तो नियमानुसार उसे लेकर महिला थाने क्यों नहीं पहुुंची। हालांकि थाने के इंस्पेक्टर किसी प्रकार की कोताही से इंकार कर रहे हैं। उनका कहना है कि किशारी शुक्रवार की सुबह खुद थाने पहुंची थी और उसका कहना था कि परिजन उसके साथ मारपीट न करें इसलिए वह घर नहीं गई। जिसके बाद उसके घर पर सूचना दे दी गई। फिलहाल किशोरी को मेडिकल के लिए भेज दिया गया है।

3356 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *