चिकित्सा के इतिहास में काले दिवस के रूप में दर्ज हुआ चार जनवरी का दिन

The-day-of-January-4-recorded-as-a-dark-day-in-medical-history

मेरठ : चिकित्सा के इतिहास में चार जनवरी 2019 दिन का काले दिवस के रूप में दर्ज हो गया। दरअसल, सरकार द्वारा थोपे जा रहे मनमाने बिलो के विरोध में जिले भर के चिकित्सकों ने आज हाथों पर काली पट्टी बांधकर काम किया। इस दौरान सभी सरकारी और प्राइवेट डाॅक्टरों ने सरकार का विरोध जताते हुए इन कानूनों को गरीबों और आम जनता के लिए घातक बताया। उन्होंने आरोप लगाया कि इस कानून के लागू होने से जहां डाॅक्टरी पेशे में इंस्पेक्टर राज को बढ़ावा मिलेगा। वहीं, दूसरी ओर गरीबो के लिए इलाज और महंगा हो जाएगा। साथ ही कारपोरेट जगत को इस बिल का भरपूर का फायदा मिलेगा। शहर के वरिष्ठ डाॅक्टर तनुराज सिरोही ने कहा कि बिल में इतनी पेचीदगियां हैं कि उन्हें पूरा करते-करते डाॅक्टरों का समय और पैसा दोनों ही खर्च होंगे। ऐसे हालात में इस बिल को लागू करना डाॅक्टरों और मरीजों दोनों के ही लिए नुकसानदेह है।

111 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *