सत्ता बदलने का असर यहां ‘बेअसर’, सूर्योदय से पहले ही खुल जाते हैं शराब के ठेके

The-effect-of-changing-power-here-is-'neutral',-open-before-sunrise,-wine-contracts

मेरठ : शासन के आदेश कुछ भी हो लेकिन कुछ थानों में सिक्का तो थानेदारों का ही चलता है। सूबे का निजाम बदलने पर लखनऊ से लेकर तमाम शहरों में जबर्दस्त कार्यवाही चल रही है। लेकिन कुछ जगह अभी भी ऐसी हैं, जहां सूरत ए हाल बदलने का नाम ही नहीं लेती। मामला फलावदा थाना क्षेत्र से जुडा है। यहां पर शराब के ठेके दिन निकलते ही खुल जाते हैं। शराब की दुकानों के शटर टाइम देखकर नहीं, सूरज देखकर खुल रहे हैं। फलावदा में शराब के ठेकों पर सत्ता परिवर्तन का असर दिखाई नहीं दे रहा है। सत्ता बदल गई लेकिन शराब के ठेके अपने पुराने ढर्रे पर चल रहे हैं। नियमानुसार ठेके प्रातः 10 बजे से रात 10 बजे तक ही खोले जाने का प्रावधान है, लेकिन स्थानीय पुलिस की मिलीभगत के चलते ठेकों पर कोई नियम लागू नहीं है। क्षेत्र में शराब के ठेके किसी भी समय खोले व बंद किए जा सकते हैं। परिणाम स्वरुप मुख्य मार्ग पर स्थित शराब के ठेके के आसपास सुरा प्रेमियों का जमावड़ा महिलाओं के लिए मुसीबत बन रहा है। सवेरे से ही महिलाओं को शराबियों की बदसुलूकी से जूझना पड़ जाता है। शासन द्वारा नियम कायदों के पालन हेतु आला अफसरों को सख्त हिदायत दी गई है इसके बावजूद शराब के ठेकों पर कोई परिवर्तन नहीं नजर आ रहा है। स्थानीय लोगों ने पुलिस अफसरों से कार्यवाही करने की गुहार लगायी है।

1733 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *