गौशालाओं के लिए प्रशासन ने चिन्हित की जमीनें, डीएम ने ली अधिकारियों की बैठक

The-land-identified-by-the-administration-for-the-Gaushalas

मेरठ : योगी सरकार द्वारा निराश्रित पशुओं को आश्रय उपलब्ध कराए जाने की मुहिम को जिला प्रशासन ने भी अमलीजामा पहनाना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में जिले के सभी विभागों के अधिकारी युद्ध स्तर पर तैयारियों में जुटे हैं। इन्हीं तैयारियों की समीक्षा के लिए शुक्रवार को डीएम अनिल धींगरा ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक ली। बैठक के दौरान उन्होंने नगर निगम, वन विभाग, नगर पालिकाओं और ग्राम पंचायतों के अधिकारियों से उनके क्षेत्रों में शेल्टर होम्स निर्माण के लिए किए जा रहे प्रयासों पर जानकारी ली। डीएम अनिल धींगरा ने बताया फिलहाल सभी अधिकारियों को उनके उनके क्षेत्र में विचरने वाले निराश्रित पशुओं की अनुमानित संख्या जुटाने के निर्देश दिए गए हैं। इसी के साथ जिले के सभी 12 ब्लॉक में कुल 28 स्थानों को शेल्टर होम्स के लिए चिन्हित भी कर लिया गया है। इनमें से मवाना के अकबरपुर गड़ी में शेल्टर होम का निर्माण कार्य शुरू भी हो गया है। वहीं सरधना के आलमगीरपुर में भी जल्द काम शुरू हो जाएगा। उन्होंने बताया कि शेल्टर होम्स में पशुओं के चारे की व्यवस्था को प्राथमिकता पर रखते हुए जमीनों का चिन्हीकरण किया जा रहा है। वहीं सरकार के इस प्रयास में कई एनजीओ और भूस्वामी भी मदद के लिए हाथ बढ़ा रहे हैं। कई किसानों ने अपनी जमीन शेल्टर होम के लिए दान देने की पेशकश भी की है। उन्होंने बताया फिलहाल लगभग 12 सौ निराश्रित पशुओं की देखभाल प्रशासन कर रहा है। उन्होंने दावा किया कि 1 सप्ताह में कम से कम दो शेल्टर होम्स शुरू कर दिए जाएंगे।

71 Total Views 2 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *