‘बच्चों के लिए बनाते हैं मिड डे मील, हमारे खुद के घरों में चूल्हे नहीं जलते’

MID DE MEEL

मेरठ : बुधवार को अजगर किसान मजदूर संगठन के बैनर तले प्राइमरी पाठशालाओं में कार्यरत महिला रसोइयाओं ने कमिश्नरी पर प्रदर्शन करते हुए सीएम के नाम पांच सूत्रिय ज्ञापन सौंपा।
संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष महक सिंह और ममता के नेतृत्व में प्राइमरी पाठशालाओं खाना बनाने वाली सैकड़ो महिलाओं ने कमिश्नरी पार्क में धरना दिया। सीएम के नाम सौंपे ज्ञापन में धरनारत रसोइयाओं ने बताया कि वह पिछले 15 वर्षो से प्राथमिक स्कूलों में खाना बनाने के साथ-साथ अन्य कई काम भी संभालती हैं। इसके बावजूद वेतन के नाम पर उन्हें मात्र एक हजार रूपये प्रतिमाह का मानदेय दिया जाता है, वह भी मात्र दस माह ही मिलता है। आलम यह है कि स्कूलों में बच्चों को मिड डे मील परोसने वाली कई महिला रसोइयाओं के घर पर कई दिनों तक चूल्हा भी नहीं जलता। उन्होंने अपना वेतन पांच हजार रूपये प्रतिमाह कर पूरे 12 माह वेतन दिए जाने और वेतन को अपने बैंक खातों में डलवाए जाने की मांग की। इसी के साथ सभी महिला रसोइयाओं को स्थाई नियुक्ति दिए जाने और पांच लाख रूपये का जीवन बीमा किए जाने की मांग की। महिला रसोइयाओं ने चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगे पूरी न हुईं तो वह उग्र आंदोलन से भी पीछे नहीं हटेंगी।

196 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *