अपनी ही सरकार में बगावती हुए मुखिया गुर्जर के सुर, बागपत में पुलिस अधिकारियों को धमकाया

mukhiya-gujjar

मेरठ : अपराधियों के सफाए का मंसूबा लेकर सूबे की सत्ता में आई भाजपा सरकार को अपनी ही पार्टी के नेताओं के बगावती सुर संकट में डाल सकते हैं। तीन दिन पूर्व ग्रेटर नोएडा पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में ढेर हुए पचास हजारी बदमाश सुमित गुर्जर के एनकाउंटर पर सवालिया निशान खड़ा करते हुए भाजपा नेता मुखिया मुखिया गुर्जर ने शुक्रवार को बागपत में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को जमकर हड़काया।
गौरतलब है कि सुमित के एनकाउंटर पर मानवाधिकार आयोग ने प्रदेश सरकार के अधिकारियों से जवाब तलब किया है। वहीं मुठभेड़ को फर्जी बताते हुए कुख्यात सुमित के परिजनों ने तीन दिनों से शव का अंतिम संस्कार नहीं किया है। ऐसे में शुक्रवार को भाजपा नेता मुखिया गुर्जर सुमित के परिजनों के साथ खड़े नजर आए। उन्होंने बागपत मंें पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को जमकर हड़काते हुए सुमित के एनकाउंटर में शामिल पुलिस टीम पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की। अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि मैंने राजस्थान में रेल की पटरियां उखाड़ी हैं, मेरा इतिहास जानना है तो गूगल पर देख लो। यदि जिले में शांति कायम रखना चाहते हो तो दोषी पुलिसकर्मियों पर तत्काल कार्यवाही करो। मुखिया के बगावती तेवर प्रदेश सरकार के लिए मानवाधिकार आयोग में मुसीबत का सबब बन सकते हैं।

450 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *