वारंटियो की ‘घूस’ से मनी कई थानेदारों की दीवाली, कप्तान के आदेश हुए बेमानी

मेरठ : जिले की कप्तान मंजिल सैनी दहल ने अपराधियों और वारंटियो के खिलाफ अभियान छेड़ते हुए सभी थानेदारों को ऐसे लोगों को सींखचों की पीछे पहुंचाने की जिम्मेदारी सौंपी थी। लेकिन कुछ थानेदारों ने इस काम में भी कमाई का जरिया ढूंढ निकाला। त्यौहार के मौके पर वारंटियों के घरों पर जाकर उन्हें धमकाने में जुटी पुलिस की दीवाली इस बार वारंटियो की घूस से खूब जगमग हुई।
थाना नौचंदी, टीपी नगर और रेलवे रोड सहित शहर के बहुत से थानों के ऐसे कई मामले में प्रकाश में आए हैं। दरअसल, जिन लोगों के किसी मामले में गैर जमानती वारंट जारी हैं। उनके घरों पर जाकर त्यौहार के मौके पर कचहरी में अवकाश होने के कारण पुलिस द्वारा उन्हें जेल भेजने की धमकी देकर मोटी वसूली की गई। वहीं कई वारंटी ऐसे भी थे, जिनकी विपक्षी पार्टियां पुलिस के पीछे-पीछे उनके वारंट लेकर घूमती रहीं। लेकिन पुलिस ने वारंटियो से वसूली कर उन्हें थाने से ही छोड़ दिया। वह तो तब है जब कप्तान मंजिल सैनी दहल ने वारंटियो के खिलाफ कड़ी कार्यवाही के निर्देश जारी किए हुए हैं। मगर इसके बावजूद कई थानेदार कप्तान के आदेश की धज्जियां उड़ाने से बाज न आकर अब तक वारंटियो से वसूली में जुटे हैं।

153 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *