जंगल में पड़ा था बोरा, ग्रामीणों ने खोला तो निकल गई चीख

Woods-had-a-sack,-went-out-screaming-villagers-opened

मेरठ : सरधना में शुक्रवार को देर शाम से लापता एक किसान का शव जंगल में बोरे से बरामद होने के बाद हड़कंप मच गया। परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर खुलासे की मांग करते हुए मेरठ-करनाल मार्ग पर जाम लगा दिया। मौके पर पहुंचे एसपी देहात और कई थानों फोर्स दोपहर बाद तक परिजनों को समझाने का प्रयास करते रहे, लेकिन वह जाम खोलने को तैयार नहीं हुए।

जिटौली निवासी पेशे से किसान अनुज (40) पुत्र नरेन्द्र ब्रहस्पतिवार की रात लगभग नौ बजे से अपने घर से गायब था। परिजन रात भर अनुज की तलाश में जुटे रहे, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला। शुक्रवार की सुबह दबथुवा में बहादरपुर मार्ग पर ग्रामीणों ने ईख के खेत के निकट एक बोरे से दुर्गंध उठते देखी तो बोरा खोल कर देखने पर उनके होश उड़ गए। बोरे में एक युवक का शव था। घटना की जानकारी मिलने के बाद आनन-फानन में थाना पुलिस मौके पर पहुंची तो मृतक की शिनाख्त अनुज के रूप में हुई। शव के गले में एक रस्सी थी और सिर पर किसी नुकीली चीज के चोट के निशान थे। अनुज की हत्या गला दबाकर और सिर पर प्रहार की गई थी। घटना की जानकारी मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। रोते-बिलखते परिजन और सैकड़ों ग्रामीण मौके पर पहुंच गए।

गुस्साए परिजनों और ग्रामीणों ने हत्या के खुलासे की मांग करते हुए बीच सड़क पर शव रखकर मेरठ-करनाल मार्ग पर जाम लगा दिया। हंगामे की जानकारी पर एसपी देहात श्रवण कुमार, सीओ सीपी सिंह और कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई और ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह डीएम और एसएसपी को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़ गए। उधर, मृतक का मोबाइल कंकरखेड़ा के एक आढ़ती से बरामद हुआ है। सब्जी की खेती के चलते अनुज अक्सर उस आढ़ती से मिलने जाता रहता था। पुलिस आढ़ती से भी पूछताछ कर रही है। अनुज के परिवार में पिता और पत्नी के साथ छह वर्षीय विजय और पांच वर्षीय अजय नाम के पुत्र हैं। परिजनों ने किसी रंजिश से इंकार किया है। समाचार लिखे जाने तक हंगामा जारी था।

3108 Total Views 1 Views Today
  • Add a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *